दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करनेवाला खिलाड़ी बिना खेले ही ऑस्ट्रेलिया ओपन टेनिस से हुआ बाहर, बन गया अंतरराष्ट्रीय मुद्दा

 दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करनेवाला खिलाड़ी बिना खेले ही ऑस्ट्रेलिया ओपन टेनिस से हुआ बाहर, बन गया अंतरराष्ट्रीय मुद्दा

DESK : टेनिस को पसंद करनेवाले प्रशंसकों के लिए यह खबर निराश करनेवाला है। इसी माह शुरू हो रहे ऑस्ट्रेलिया ओपन के पुरुष वर्ग से पूर्व नंबर एक सर्बिया के नोवाक जांकोविच को बाहर कर दिया गया है। जांकोविच का वीसा  ऑस्ट्रेलिया सरकार ने रद्द कर दिया है। जिसके कारण अब उन्हें उन्हें किसी इंटरनेशनल टूर्नामेंट से खेले बिना ही वापस अपने देश सर्बिया लौटना होगा। उन्हें डिपोर्ट करने की तैयारी है। हालांकि उन्होंने इस फैसले के खिलाफ कोर्ट में अपील की है। वहीं इस फैसले को लेकर दोनों देशों के बीच तनाव भी उत्पन्न हो गया है। सर्बिया की सरकार ने इसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर उठाने की बात कही है।

वैक्सीन नहीं लेने के कारण लिया गया फैसला

मेलबर्न में आगामी 17 जनवरी से ऑस्ट्रेलिया ओपन टूर्नामेंट शुरू हो रहा है। जिसमें हिस्सा लेने के लिए टेनिस में नंबर चार रेकिंग वाले और 20 ग्रैंड स्लैम जीत चुके जोकोविच को बुधवार रात मेलबर्न पहुंचने पर एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया। ऑस्ट्रेलियाई बॉर्डर फोर्स के मुताबिक वे मेडिकल छूट संबंधी कागजात नहीं दिखा पाए, इसलिए वीसा रद्द कर दिया गया। जिसके बाद अब उन्हें वापस जाने के लिए कह दिया गया है। ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘कोई भी देश के नियमों से ऊपर नहीं है।  उधर, सर्बियाई राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वुसिस ने मामले को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाने की बात कही।

सरकार से मांगा गया था गाइडलाइन

इससे पहले नोवाक ने बुधवार को टेनिस ऑस्ट्रेलिया ने कहा था कि जोकोविच को बगैर वैक्सीन खेलने की मंजूरी दी गई है, उन्होंने मेडिकल आधार पर विशेष छूट मांगी थी। विक्टोरिया प्रांत सरकार ने भी मंजूरी दे दी थी। जोकोविच ने दलील दी थी कि उन्हें पिछले 6 माह के दौरान कोरोना हो चुका है, यानी शरीर में एन्टीबॉडीज मौजूद हैं, लिहाजा उन्हें वैक्सीनेटेड माना जाए। टेनिस ऑस्ट्रेलिया ने तथ्य की तस्दीक के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय से इस मामले में दिशा निर्देश की मांग की थी। जिसमें मंत्रालय ने साफ कर दिया कि ‘जब तक व्यक्ति को दोनों डोज नहीं लगते, उसे देश में वैक्सीनेटेड नहीं माना जाएगा।’ इसी आधार पर बॉर्डर फोर्स ने जोकोविच का तर्क नहीं माना। 

लोगों ने किया था विरोध

नोवाक को बिना वैक्सीनेशन दिए जाने के फैसले को लेकर ऑस्ट्रेलिया में विरोध भी शुरू हो गया था। विक्टोरिया प्रांत द्वारा नोवाक को मंजूरी देने पर देश भर से आवाजें उठने लगी। लोगों का कहना था कि आम लोगों पर सख्त कोरोना नियम लागू हंै, वहीं सेलिब्रिटी को छूट दी जा रही है। जिसके बाद सरकार भी अपने लोगों के साथ अब खड़ी नजर आ रही है।

दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करनेवाले एथलीट हैं नोवाक

बता दें कि जोकोविच दुनिया के सबसे ज्यादा कमाने वाले एथलीट्स में हैं। उनकी नेटवर्थ करीब 1635 करोड़ रुपए है। हालांकि 2021 की सूची में वे चौथे स्थान पर रहे। उनकी लग्जरी संपत्ति का पोर्टफोलियो मोंटे कार्लो से मियामी, मैनहट्‌टन, मार्बेला व बेलग्रेड तक फैला है। उनके कई रेस्त्रां भी है। स्पोर्ट्सवियर दिग्गज लेकोस्टे की स्पांसरशिप से ही उन्हें हर साल 67 करोड़ रुपए मिलते हैं। टेनिस रैकेट निर्माता एसिक्स जैसी कंपनियों से भी उनकी डील है। जोकोविच के पास निजी जेट भी है। हालांकि जोकोविच वैक्सीन का विरोध करते रहे हैं. जिसका खामियाजा अब उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाना पड़ रहा  है।


Find Us on Facebook

Trending News