बीस लाख रूपये रंगदारी नही देने पर बदमाशों ने होटल मालिक से की मारपीट, लोगों ने एक को मौके पर धर दबोचा

बीस लाख रूपये रंगदारी नही देने पर बदमाशों ने होटल मालिक से की मारपीट, लोगों ने एक को मौके पर धर दबोचा

SUPAUL : जिले के राघोपुर थाना क्षेत्र में दिनोंदिन अपराधियों का मनोबल बढ़ता ही जा रहा है, जिसके कारण क्षेत्र के लोग भय के साये में जीने को विवश हैं। ताजा मामला सोमवार देर रात्रि करीब डेढ़ बजे की है। जहां सिमराही बाजार में एक होटल पर अपराधियों ने धावा बोल दिया और 20 लाख रुपये रंगदारी की मांग करने लगे। वहीं जब होटल मालिक द्वारा घटना का विरोध किया गया तो अपराधियों ने धारदार हथियार से उसके ऊपर वार कर लहूलुहान कर दिया और वहां से फरार हो गए। हालांकि इस बीच होटल मालिक के छोटे भाई और स्टाफ के आ जाने से एक अपराधी उनके हत्थे चढ़ गया, जिसे बाद में पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया। वहीं खून से लथपथ होटल मालिक को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज हेतु रेफर कर दिया गया, जिसकी स्थिति नाजुक बनी हुई है।


मिली जानकारी के अनुसार राघोपुर थाना से महज आधे किलोमीटर की दूरी पर स्थित वीणा होटल में सोमवार की रात्रि करीब डेढ़ बजे तीन की संख्या में अपराधी धारदार हथियार से लैस होकर पहुंचे और गाली गलौज करते हुए पहले होटल का गेट खुलवाया। बाद में वहां मौजूद होटल मालिक श्रवण चौधरी से 20 लाख रुपये की रंगदारी का मांग करने लगा। श्रवण चौधरी द्वारा जब घटना का विरोध करते हुए रंगदारी देने से मना किया गया तो अपराधियों ने धारदार हथियार से उन पर हमला बोल दिया और उसे लहूलुहान कर गले से सोने की चेन और पांच हजार रुपये नकदी लेकर भागने का प्रयास करने लगे। लेकिन इसी बीच श्रवण चौधरी के छोटे भाई कुंदन जायसवाल और होटल स्टाफ वहां पहुंच गए और उनलोगों ने एक अपराधी को वहीं पकड़ लिया। जिसके बाद घटना की सूचना राघोपुर पुलिस को देते हुए श्रवण चौधरी को रेफरल अस्पताल राघोपुर ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसके नाजुक स्थिति को देखते हुए डॉक्टरों ने बेहतर इलाज हेतु सदर अस्पताल सुपौल रेफर कर दिया।  

घटना के बाबत जख्मी होटल मालिक श्रवण चौधरी के छोटे भाई कुंदन जायसवाल ने थाना को आवेदन देकर मामला से अवगत कराया। थाना को दिए आवेदन में कुंदन ने बताया कि जानलेवा करने वाले तीनों अपराधियों को उन्होंने पहचान लिया है। जिसमें सिमराही निवासी जयप्रकाश मुखिया और बिट्टू दास एवं राघोपुर निवासी मो राजा शामिल था।जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है। बताया कि घटना के दौरान उक्त अपराधियों में से जयप्रकाश मुखिया को उनलोगों ने पकड़ लिया, जबकि दो अन्य वहां से भागने में सफल रहे। लेकिन सबसे बड़ी ये बात है जो अपराधी को पकड़ा गया और उनसे पूछा गया और अपराधी का नाम तो उन्होंने बताने से मना कर दिया और बोला मै थाना प्रभारी को बता दूंगा। मामले को लेकर थानाध्यक्ष रजनीश कुमार केशरी ने बताया कि प्राप्त आवेदन के आधार पर कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार अपराधी को जेल भेजा जा रहा है। साथ ही अन्य भागे हुए अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है, जल्द ही अन्य दो अपराधियों की गिरफ्तारी भी कर ली जाएगी।

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News