योगी के यूपी में बदल जाएगा दर्जनों शहर का नाम, अलीगढ़ कहाएगा हरिगढ़, अब नहीं रहेंगे मुसलमानों के नाम पर शहर

योगी के यूपी में बदल जाएगा दर्जनों शहर का नाम, अलीगढ़ कहाएगा हरिगढ़, अब नहीं रहेंगे मुसलमानों के नाम पर शहर

DESK. उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में लगातार दूसरी बार भाजपा सरकार बनने के बाद अब राज्य में कई बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं. इसमें एक बड़ा बदलाव यूपी के शहरों के नाम बदलने से जुड़ा है. सूत्रों की मानें तो योगी सरकार ने राज्य के एक दर्जन शहरों का नाम बदलने की योजना बना ली है. इनमें ज्यादातर वे शहर हैं जिनका नाम मुस्लिम नामों से मिलता जुलता है. जिन शहरों के नाम बदलने की योजना है उसमें सबसे प्रमुख नाम अलीगढ का है. माना जा रहा है कि अलीगढ़ का नाम बदलकर इसे हरिगढ़ किया जाएगा. अलीगढ में प्रसिद्ध अलीगढ़ मुस्लिम यनिवर्सिटी भी है. 

योगी सरकार ने पिछली बार मुगलसराय का नाम बदला था. अब इसे पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर कहा जाता है. मुगलसराय का नाम बदलने के दौरान काफी विवाद हुआ था. तब कहा गया था कि नाम बदलना राजनीति से प्रेरित कदम है. हालांकि भाजपा सहित नाम बदलने के समर्थकों का कहना था कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय का यहां से नाता था. उनकी मौत भी यहीं हुई थी, इसलिए उनके नाम पर मुगलसराय का नाम रखा गया है. जबकि मुगल आक्रांता थे. 

अब उसी तर्ज पर यूपी के जिन शहरों का नाम बदलने की योजना है उसमें उन शहरों से जुड़े एतिहासिक और पौराणिक तथ्यों का संदर्भ दिया जा रहा है. इसमें फर्रुखाबाद का नाम बदलकर पांचाल नगर करने की मांग है. कहा जाता है कि महाभारत के पात्र द्रौपदी के पिता द्रुपद पांचाल राज्य की राजधानी के शासक थे. उनकी राजधानी का नाम बदलकर फर्रुखाबाद किया गया था. इसी तरह वेदों के अध्य्यन केंद्र के रूप में प्रसिद्ध बदायूं का नाम बदलकर वेद मऊ करने की योजना है. वहीं सुल्तानपुर का नाम कुशभवनपुर करने की योजना है. पौराणिक कथाओं के अनुसार इस शहर को श्रीराम के पुत्र कुश ने बसाया था. 

मुगल शासक शाहजहां के नाम पर शाहजहांपुर शहर है. लेकिन इतिहासकारों के एक वर्ग का कहना है कि यह शहर महाराणा प्रताप के करीबी भामाशाह और एक और नाम शाजी के नाम से जुड़ा है. इसलिए अब इसका नाम शाजीपुर करने की बात चल रही है. यूपी के एक और प्रसिद्ध शहर फिरोजाबाद का नया नाम चंद्रनगर रखने को लेकर योगी सरकार के पास एक प्रस्ताव भी भेजा गया है. नाम बदलने की सूची में मैनपुरी, संभल, देवबंद, गाजीपुर, कानपुर, आगरा जैसे शहरों के नाम भी शामिल है. 

यहां तक कि सीएम योगी आदित्याथ के गोरखपुर के उर्दू नामों वाले मोहल्ले उर्दू बाजार को हिंदी बाजार, हुमायूंपुर को हनुमान नगर, मीना बाजार को माया नगर और अलीनगर को आर्य नगर किया जा सकता है. सूत्रों का कहना है कि राज्य सरकार ने नामों को बदलने की योजना को करीब करीब तय कर लिया है. अब विधानसभा के अगले सत्र में नाम बदलने का प्रस्ताव पेश किया जा सकता है.


Find Us on Facebook

Trending News