उत्तर प्रदेश में हुआ लेखापाल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, परीक्षा पास कराने वाले बिहार के गैंग के हाथ, नालंदा का है कुख्यात

उत्तर प्रदेश में हुआ लेखापाल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, परीक्षा पास कराने वाले बिहार के गैंग के हाथ, नालंदा का है कुख्यात

DESK. उत्तर प्रदेश में रविवार को हुई लेखपाल भर्ती परीक्षा का पेपर भी लीक होने की बात कही जा रही है. इसे लेकर सोशल मीडिया पर परीक्षा शुरू होने के कुछ समय बाद से ही प्रश्न पत्र सर्कुलेट होने लगा. इसके बाद परीक्षा में अनियमितता को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार विपक्ष के निशाने पर है. हालांकि अभी तक पुलिस या शिक्षा विभाग की ओर से इस पर कुछ नहीं कहा जा रहा है. 

विपक्ष के नेता अखिलेश यादव ने इसे लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्विट कर कहा, आज लेखपाल भर्ती परीक्षा का पेपर भी लीक हो गया। अब तो लगता है कि अभ्यर्थियों का ये आरोप सच है कि ये सब भाजपा सरकार की ही चाल है जिससे कोई भी परीक्षा पूरी न हो पाए और लोगों को नौकरी न मिले, जिससे युवा, पूँजीपतियों के यहाँ श्रमिक-चपरासी बन के रह जाएं। भाजपा वेतन-पेंशन के ख़िलाफ़ है।

इस बीच, जनपद बरेली में लेखपाल भर्ती परीक्षा में यूपी एसटीएफ ने एक मुन्ना भाई को पकड़ा है। बताया जा रहा है कि अभ्यर्थी को जीजीआईसी परीक्षा सेंटर से पकड़ा गया है। आरोपी को हिरासत में लेकर एसटीएफ पूछताछ में जुटी है। एसटीएफ के सूत्रों के मुताबिक, रामपुर के खुशहालपुर निवासी ज्ञानी सिंह के बेटे रिंकू सिंह ने यूपी लेखपाल भर्ती परीक्षा 2022 के लिए आवेदन किया था। इसी बीच उसकी पहचान परीक्षा पास कराने की बात कहने वाले एक गैंग से हुई। जिसके माध्यम से वो बिहार के नालंदा निवासी राजीव कुमार पुत्र मधुसूदन के संपर्क में आया।

परीक्षा पास कराने की बात कहते हुए मधुसूदन रविवार को जीजीआईसी, बरेली में रिंकू के एग्जाम सेंटर पर उसकी जगह पर परीक्षा दे रहा था। एसटीएफ को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने मौके से आरोपी को हिरासत में ले लिया। इसके बाद आरोपी से पूछताछ की जा रही है। माना जा रहा है की राजीव कुमार के साथ और भी लोग दूसरे की जगह परीक्षा दे सकते हैं। जल्द ही राजीव कुमार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उसे जेल भेजा जाएगा।


Find Us on Facebook

Trending News