बिहार में खुले में नमाज पर लगेगी रोक, नीतीश का बड़ा बयान

बिहार में खुले में नमाज पर लगेगी रोक, नीतीश का बड़ा बयान

पटना. देश के कुछ राज्यों में इन दिनों में जुम्मे पर खुले में नमाज पढने पर रोक लगाने को लेकर राजनीती परवान पर है. बिहार भी इससे अछूता नहीं है. हाल ही में बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सत्ताधारी गठबंधन के घटक भाजपा के एक विधायक ने भी बिहार में जुम्मे पर सड़क पर नमाज पढ़ने पर रोक लगाने की मांग की थी. 

अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में खुले पर नमाज पर प्रतिबंध को लेकर साफ तौर पर कहा है कि इन सब विषयों पर चर्चा करने का कोई मतलब नहीं है. ऐसी बातों को मुद्दा बनाए जाने का कोई मतलब नहीं होने चाहिए. राज्य के सभी लोग हमारे लिए एक समान हैं. सबको अपने ढंग से ध्यान रखना चाहिए. नीतीश कुमार ने ऐसे मुद्दों पर बात करने को गैरजरूरी बताकर भाजपा विधायक को सीधा जवाब दे दिया. 

उन्होंने यह भी कहा सब लोग अपने ढंग से पूजा पाठ करते हैं. सभी को इसका ध्यान रखना चाहिए कि सब नियम अनुरूप हो. उन्होंने कोरोना में लगाए गए प्रतिबंधों का हवाला देखर कहा कि जब कभी ऐसी स्थिति आती है तो सख्ती बरती जाती है. अगर कोरोना का दौर बढ़ेगा तो पुन: गाइडलाइन जारी होगी. उस स्थिति में किसी एक धर्म की बात नहीं होती है बल्कि सबको इसका ध्यान रखना चाहिए. 

गौरतलब है बिहार के भाजपा विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने राज्य में खुले पर नमाज पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी. उन्होंने हरियाणा का उदाहरण देते हुए बिहार में भी उसी अनुरूप शुक्रवार को होने वाली नमाज को मस्जिदों के अंदर कराने की वकालत की थी. अब नीतीश कुमार ने सिरे से उनकी मांग को ख़ारिज करते हुए ऐसे मुद्दों पर चर्चा को करने को बेमतलब करार दे दिया है. 


Find Us on Facebook

Trending News