भाजपा नेतृत्व के तेवर तल्खः BJP कोटे के मंत्रियों को 'बोलने' पर पाबंदी, सहयोग में सिर्फ शिकायत सुनें..चेहरा चमकाने से बाज आयें

भाजपा नेतृत्व के तेवर तल्खः BJP कोटे के मंत्रियों को 'बोलने' पर पाबंदी, सहयोग में सिर्फ शिकायत सुनें..चेहरा चमकाने से बाज आयें

PATNA: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह के पटना दौरे के बाद बिहार बीजेपी एक्शन में है। नेतृत्व ने भाजपा कोटे से नीतीश कैबिनेट के मंत्रियों पर लगाम लगाने को लेकर फरमान जारी कर दिया है। शीर्ष नेतृत्व के तल्ख तेवर के बाद प्रदेश नेतृत्व ने अपने मंत्रियों को साफ हिदायत दिया है कि संगठन-गठबंधन के बारे में बोलने से परहेज करें। साथ ही सहयोग कार्यक्रम में केवल कार्यकर्ताओं की शिकायत सुनें, मीडिया में बयानबाजी कर अपना चेहरा मत चमकायें। 

बीजेपी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष की तरफ से सभी मंत्रियों को इस बारे में बता दिया गया है। सोमवार को ही संजय जायसवाल ने बीजेपी कोटे के मंत्रियों को मीडिया में बोलने से बचने को कहा है। साथ ही यह भी फरमान जारी हुआ है कि सहयोग कार्यक्रम में मीडिया से बात न करें।  मंत्री सिर्फ अपने विभाग के बारे में ही मीडिया के सवालों को जवाब दें। संगठन या फिर जेडीयू-बीजेपी के रिश्तों के बारे में मुंह मत खोलें। 

बता दें, हाल के दिनों में विवादास्तपद बयानों की वजह से जेडीयू-बीजेपी के रिश्तों में तल्खी आई है। बयानों की वजह से बिहार में जेडीयू-बीजेपी के रिश्तों को लेकर तरह-तरह के कयास लगाये जा रहे हैं। बयानों की वजह से ही सरकार पर सवाल खड़े हो रहे हैं। साथ सरकार के भविष्य पर संकट के बादल मंडराने लगते हैं। बीजेपी कोटे के कई मंत्री भी खुलकर संगठन के बारे में बोल रहे थे। पार्टी कार्यालाय में मंत्री कार्यकर्ताओं की शिकायत पर कम मीडिया में बयानबाजी कर चेहरा चमका रहे थे। मंत्रियों के बयान से भाजपा नेतृत्व परेशान था. जेपी नड्डा-अमित शाह ने बिहार बीजेपी के नेताओं से साफ कह दिया है कि हम सहयोगी दल को छोड़ नहीं सकते। 2024-25 का चुनाव जेडीयू के साथ मिलकर लड़ेंगे। 

Find Us on Facebook

Trending News