कैमूर के सरियांव गांव में डायरिया की चपेट में आये ढाई दर्जन लोग, तीन शिफ्ट में कैम्प कर रही स्वास्थ्य विभाग की टीम

कैमूर के सरियांव गांव में डायरिया की चपेट में आये ढाई दर्जन लोग, तीन शिफ्ट में कैम्प कर रही स्वास्थ्य विभाग की टीम

KAIMUR : जिले के दुर्गावती प्रखंड के सरियांव गांव में डायरिया से 30 लोग आक्रांत पाए गए है। जिनके इलाज में चिकित्सक जुट गए है। हालाँकि डायरिया के प्रकोप से गांव के लोग अभी भी भयभीत हैं। चुकी उल्टी दस्त से एक- एक कर लोगों के बीमार होने का सिलसिला लगा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की टीम लगातार कैम्प की हुई है। पीएचसी से स्वास्थ्य विभाग की टीम एम्बुलेंस से चिकित्सकों के साथ दवा पानी लेकर गांव पहुंच कैम्प कर रही है। तीन शिफ्टो में चिकित्सकों की टीम निगरानी बनाए हुई है। 

डायरिया से आक्रांत लोगों का गांव व पीएचसी तथा अनुमंडलीय अस्पताल मोहनिया में इलाज किया जा रहा है। बताते चलें कि दो दिन पूर्व में डायरिया से 2 लोगों ने दम तोड़ दिया था। डायरिया होने की वजह को लेकर ग्रामीणों ने बताया कि सात निश्चय योजना के तहत लगाए गए नल जल का जो मेन सप्लाई पाइप है। वह गलियों में लगाया गया है। जगह जगह पर पाइप फट जाने के कारण गन्दा पानी सप्लाई पाइप में प्रवेश कर जा रहा है जिसके कारण लोग डायरिया से ग्रसित होते जा रहे हैं। डायरिया से ग्रसित गांव की रहने वाली कुंती देवी, हरिहर बिंद, कुमारी देवी का पीएचसी में इलाज चल रहा है। वही जिन लोगों की हालत गंभीर बनी हुई थी। उन्हें पीएचसी पर बेड के अभाव में कुछ लोगों को एंबुलेंस द्वारा अनुमंडलीय अस्पताल मोहनिया ले जाया गया है। जिन लोगों को अनुमंडलीय अस्पताल में भेजा गया है। उनमें मुआ देवी, रेनू देवी, प्रमिला देवी, सुकालू बिंद ,रामवृक्ष बिंद शामिल है। जिन लोगों का गांव में इलाज चल रहा है उनमें गुलजरिया देवी, प्रमिला देवी शामिल है। शेष कुछ लोग इलाज के बाद स्वस्थ होकर घर वापस आ गए हैं। 

वही इस संबंध में सिविल सर्जन मीना कुमारी ने जानकारी देते हुए बताया कि पीएचसी के द्वारा सूचना मिली की सरियाव गांव में दूषित पानी के चलते लोगों को डायरिया हो गया है। परसों से ही हमारी टीम लगी हुई है और इसकी सूचना पर हम भी आज  सरियाव गांव पहुंचे है। यहां पर 8 पेसेंट को पानी चढ़ाया जा रहा है। पीएससी दुर्गावती में भी 6 लोगों को पानी लगाया गया है। वहां पर हमने स्थिति को देखा तो लोगों की स्थिति ठीक है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से 3 टीम तैयार है जो की 24 घंटे कैंप कर रही है।

कैमूर से देवब्रत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News