नालंदा के पंचाने नदी में डूबने से दो सगे भाईयों की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

नालंदा के पंचाने नदी में डूबने से दो सगे भाईयों की हुई मौत, परिजनों में मचा कोहराम

NALANDA : जिले के दीपनगर थाना इलाके के कोराई गांव में पंचाने नदी में स्नान करने के दौरान छोटे भाई को बचाने के चक्कर में बड़ा भाई भी पानी में डूब गया। जिसकी तलाश में ग्रामीण गोताखोर लगे हुए हैं। किशोर पिंटू रजक का 15  वर्षीय पुत्र अंकित कुमार एवं 12  वर्षीय  पुत्र आशीष कुमार है।


घटना को लेकर पिंटू रजक ने बताया कि वह और उसकी पत्नी पंचाने नदी किनारे कपड़ा धो रहे थे। इसी बीच उनका छोटा बेटा आशीष कुमार नदी में नहाने चला गया। गहरे पानी का आशीष को अंदाजा नहीं हुआ और वह डूबने लगा। इसी बीच बड़े बेटे ने भी छलांग लगा दी और आशीष को बचाने के चक्कर में अंकित भी डूब गया। 

दोनो बेटों को डूबता हुआ देख दम्पत्ति ने शोर मचाया तो मौके पर ग्रामीण इकट्ठा हुए। जिनमें कुछ लोगों ने नदी में छलांग लगा दिया और नदी में डूबे किशोरों की तलाश की। लेकिन गहरे पानी की वजह से किशोरों का कुछ अता पता नहीं चल सका है। मौके पर लापता किशोरों के परिजनों की चित्कार गूंजने लगी। जिससे गांव का माहौल गमगीन हो गया है।

वहीँ सूचना मिलते ही दीपनगर पुलिस दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुँची और इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दिया। सीओ धर्मेंद्र पंडित ने बताया की एसडीआरएफ को सूचना दी गई। नहाने के दौरान दो बच्चे नदी में डूब गए हैं। जिनका स्थानीय गोताखोरों की मदद से खोजबीन की जा रही है। ग्रामीणों का कहना है कि हर साल जब नदी में पानी आती है तो कोई ना कोई गांव का व्यक्ति इसमें डूब ही जाता है। दरअसल बालू उठाव के कारण नदी में जहां-तहां गड्ढे हो गए हैं। जिसके कारण नहाने के दौरान अक्सर डूबने से मौत हो जाती है।

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News