BIHAR NEWS : जिला प्रशासन के नाम पर ठगी करते चार को ग्रामीणों ने पकड़ा, बाढ़ राहत राशि दिलाने के नाम पर कर रहे थे वसूली

BIHAR NEWS : जिला प्रशासन के नाम पर ठगी करते चार को ग्रामीणों ने पकड़ा, बाढ़ राहत राशि दिलाने के नाम पर कर रहे थे वसूली

MOTIHARI : जिले में बाढ़ राहत की राशि दिलाने के नाम पर ठगी करते चार को ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पकड़े गए युवक अपने आप को जिला प्रशासन के द्वारा भेजे गए कर्मी बताकर प्रति परिवार एक एक हज़ार की वसूली कर रहे थे। पुलिस ने हिरासत में लिए गए युवको के पास के कई कागजात बरामद किया है। वही मास्टरमाइंड ग्रामीणों से छुड़ाकर वसूली का पैसा लेकर भागने में सफल रहा। मामला बंजरिया थाना क्षेत्र के सिसवा पश्चिमी पंचायत का बताया जा रहा है।बाढ़ राहत से वंचित परिवार को छह छह हजार दिलाने के नाम पर एक एक हज़ार की वसूली कर रहे थे।

मिली जानकारी के मुताबिक बंजरिया थाना क्षेत्र के सिसवा पश्चिमी पंचायत के वार्ड नंम्बर 3 व 4 के ग्रामीणों ने रविवार को सरकार की ओर से दी जाने वाली बाढ़ सहायता राशि 6 हजार रुपये दिलाने के नाम पर लोगों से एक - एक हजार रुपये की ठगी कर रहे चार लोगों को पकड़ लिया। जिसके बाद ग्रामीणों ने घटना की जानकारी स्थानीय मुखिया, बंजरिया सीओ व थानाध्यक्ष को दिया। सूचना मिलते ही मौके पर सीओ मनी कुमार वर्मा व  एसआई लालबाबू राय पहुंचे। अधिकारियों ने ग्रामीणों के द्वारा बाढ़ सहायता राशि 6 हजार रुपये लोगों के दिलाने के नाम पर एक - एक हजार रुपये ठगी कर रहे चारों ठगों को गिरफ्तार कर थाना लाया। जहाँ पुलिस चारों से पूछताछ कर रही हैं। उक्त सभी के पास से ग्रामीणों से वसूले गये आधार कार्ड व पासबुक के कई छायाप्रति सहित चार मोबाइल व एक एचएफ डीलक्स बाइक पुलिस ने बरामद किया है। जबकि एक ठग भागने में सफल बताया जा रहा है। गिरफ्तार व्यक्तियों में रघुनाथपुर ओपी थाना क्षेत्र के सपही गांव के शंभू सिंह के पुत्र मुन्ना सिंह, जयगोविंद सहनी के पुत्र दीपलाल सहनी व जबकि दो सिसवा पश्चिमी पंचायत के स्थानीय ही राघव सहनी व राजेन्द्र सहनी है। 

ग्रामीणों ने बताया कि रविवार को दोपहर में 12 बजे के बाद से सपही गांव के मुन्ना सिंह व दीपलाल सहनी वार्ड नं 03 व 04 में आकर सरकार की ओर से दी जाने वाली बाढ़ सहायता राशि से वंचित बाढ पीड़ित परिवार से जिला से 6 हजार रुपये भेजवाने के नाम पर घुम घूमकर 1000 - 1000 रुपये व परिवार के लोगों का आधार कार्ड व पासबुक का छायाप्रति वसूल रहे थे। ग्रामीणों ने बताया कि उक्त दोनों अपने आप को जिला प्रशासन के कर्मी होने व जिले से 6 हजार रुपये भेजवाने का आश्वासन हम सभी को दे रहे थे। ग्रामीणों ने बताया कि इसकी सूचना जब हम लोग मुखिया को दिये, तो उन्होंने ठगी का शिकार होने के बात को बताया। जिसके बाद हमलोग उक्त सभी को पकड़ कर बैठा लिए और प्रशासन को सूचित किया। थानाध्यक्ष रविरंजन कुमार ने बताया कि चार व्यक्तियों को स्थानीय ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले किया है। जिससे पूछताछ की जा रही है। जिसके बाद अग्रेतर कर्रवाई की जाएगी।

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News