जब हत्या का कोई सुराग नहीं मिलता तो प्रकृति पहुंचाती है हत्यारे तक, इस घटना के बाद हो जाएगा यकीन

जब हत्या का कोई सुराग नहीं मिलता तो प्रकृति पहुंचाती है हत्यारे तक, इस घटना के बाद हो जाएगा यकीन

NALANDA : उसने समझा था कि पत्नी की हत्या करने के बाद उसके शव को दफन कर देगा। जब लाश नहीं मिलेगी, तो उसे कुछ नहीं होगा। पुलिस को हत्या का कोई सबूत नहीं मिलेगा। लेकिन, जब इंसान को कोई सबूूत नही मिलता है तो प्रकृति सहायता करने के लिए आती है। यहां भी कुछ ऐसा ही हुआ। जमीन में दफन लाश पर मिट्टी तेज बारिश में बह गई और विवाहिता का एक पैर बाहर दिखने लगा। यह सबूत था कि उसकी लाश यहां दफन है। जिसके बाद आगे का काम पुलिस को करना था।

मामला गोखुलपुर ओपी क्षेत्र का है, जहां के सती स्थान गांव के समीप 20 दिन से गायब महिला का शव सोमवार को पुलिस ने जमीन खोदकर निकाला। जहां भाई की साली से अवैध संबंध में बाधक साबित होने पर पति ने पत्नी की गला दबाकर हत्या कर अपने खेत में दफन कर दिया था। पूर्व में मायके के परिवार ने हत्या कर शव गायब करने का केस दर्ज कराया था। रविवार की रात बारिश होने पर दफन शव का पैर बाहर दिखाई दिया। जिसके बाद पुलिस ने शव बरादमद की। ससुर पूर्व से गिरफ्तार है।  मृतका नीतीश कुमार की 28 वर्षीया पत्नी गुड़िया देवी है। 

मृतका के पिता खुदागंज थाना क्षेत्र के अकुड़ी गांव निवासी नवल प्रसाद ने दामाद समेत पांच लोगों के खिलाफ 27 जुलाई को केस दर्ज कराया था। जिसके बाद ससुर लोटन यादव को गिरफ्तार कर लिया। फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। सुरक्षा के मद्देनजर मृतका के दोनों बच्चों को ननिहाल परिवार के हवाले कर दिया गया। आेपी प्रभारी ने बताया कि जल्द ही सभी आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News