जहां अमित शाह ने खाया चावल, रोटी, चटनी और खीर ...कौन समुदाय से आते है वो लोग ...

जहां अमित शाह ने खाया चावल, रोटी,  चटनी और खीर ...कौन समुदाय से आते है वो लोग ...

Desk : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो दिन के पश्चिम बंगाल  दौरे पर हैं। शुक्रवार को अमित शाह के दौरे का दूसरा दिन है।दूसरे दिन अमित शाह ने दक्षिणेश्वर काली के दरबार में दर्शन करने पहुंचे।गुरुवार की तरह आज भी अमित शाह एक खास समुदाय के घर पर खाना खाया।

अमित शाह और बीजेपी के अन्य नेता मटुआ समुदाय  के घर पर भोजन करने पहुंचे. मटुआ समुदाय द्वारा शाह के स्वागत की जोरदार तैयारियां की गई थीं. घर पर पहुंचते ही पहले महिलाओं ने शाह की आरती उतारी. अमित शाह और बीजेपी के अन्य नेता मटुआ समुदाय शाह के स्वागत की जोरदार तैयारियां की गई थीं।मटुआ समुदाय की महिलाओं ने अमित शाह पर फूलों की बारिश की. मटुआ समुदाय के नबीन बिस्वास के घर में प्रवेश करते ही शाह का पारंपरिक तरीके से स्वागत किया गया। पश्चिम बंगाल की परंपरा के अनुसार, अमित शाह को जमीन पर बैठकर केले के पत्ते पर भोजन परोसा कराया. ये भोजन नबीन बिस्वास की पत्नी ने खुद तैयार किया था।


बताया जा रहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को खाने में चावल, रोटी, शुक्तो, मूंग दाल, तूर दाल, पनीर, चटनी और खीर परोसी गई।
मटुआ समुदाय आजादी के बाद विस्थापित होकर बांग्लादेश से प. बंगाल आया था. ये समुदाय केंद्र सरकार से लगातार नागरिकता संशोधन कानून के तहत नागरिकता देने की मांग करता रहा है. माना जाता है कि 2019 में इस समुदाय के लोग बीजेपी के साथ थे, लेकिन फिलहाल उनके युवा सांसद शांतनु ठाकुर इस कानून को लेकर नाराज हैं. ऐसे में अमित शाह ने मटुआ परिवार के साथ खाना खाकर अपनापन जताने की कोशिश की है।


बंगाल की राजनीति में मटुआ समुदाय का वोट काफी महत्वपूर्ण माना जाता है. आंकड़ों की मानें तो यहां लगभग 72 लाख मटुआ समुदाय के लोग रहते हैं जिन्हें किसी तरह का झुनझुना नहीं, केवल नागरिकता चाहिए. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में मटुआ समेत अन्य शरणार्थियों का समर्थन भाजपा को मिला था।


https://chat.whatsapp.com/CgBu9Wg7J6YEnu7cZUNwvE


Find Us on Facebook

Trending News