एक महिला के लिए स्टेशन पर वापस लौटी आनंद विहार-भुवनेश्वर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, जानिए क्यों रेलवे को लेना पड़ा ऐसा निर्णय

एक महिला के लिए स्टेशन पर वापस लौटी आनंद विहार-भुवनेश्वर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, जानिए क्यों रेलवे को लेना पड़ा ऐसा निर्णय

TATANAGAR : आम तौर पर इस तरह की घटना शायद ही सुनने को मिलती है कि कोई ट्रेन स्टेशन छोड़ने के बाद वापस स्टेशन पर लौटी हो। वह भी तब जब संपर्क क्रांति जैसी सुपर फास्ट ट्रेन हो। लेकिन बीते बुधवार को टाटानगर में ऐसी घटना हुई जब आउटर सिग्नल पार करने के बाद आनंद विहार-भुवनेश्वर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को वापस स्टेशन लौटना पड़ा। स्टेशन छोड़ने के बाद ट्रेन के पीछे लौटने पर यात्री भी हैरान थे कि ऐसा क्यों हुआ। लेकिन, जब उन्हें कारण की जानकारी मिली, तो सभी ने रेलवे के फैसले की तारीफ की।

दरअसल ट्रेन के स्लीपर कोच एस-5 में एक गर्भवती महिला अपने चार साल के बेटे और माता-पिता के साथ  सफर कर रही थी। महिला का नाम रानू दास बताया गया। परिजनों ने बताया कि बुधवार सुबह करीब सवा चार बजे टाटानगर स्टेशन से ट्रेन के रवाना होते ही रानू दास को पेट दर्द होने लगा। थोड़ी देर में ही उसने बच्चे को जन्म दे दिया। बच्चे के जन्म के बाद परिजनों ने चेन खींची, तबतक ट्रेन टाटानगर आउटर सिग्नल को पार कर चुकी थी। चेन खींचने के कारण ट्रेन एस्कॉर्ट ड्यूटी में तैनात आरपीएफ जवान वहां पहुंचे। उन्होंने बच्चे के जन्म की बात कंट्रोल रूम को बताई। 

दो घंटे बाद था अगल स्टॉपेज

इसके बाद रेलवे के अधिकारियों ने तुरंत आला अधिकारियों को इसकी सूचना दी। रेलवे के वरीय अधिकारियों ने तुरंत ट्रेन को वापस स्टेशन लाने का निर्देश दिया। टाटानगर के आगे ट्रेन का अगला स्टॉपेज हिजली था, जो लगभग सवा दो घंटे बाद आता, जिससे महिला और नवजात की जान को खतरा हो सकता था। ऐसे में  ट्रेन को टाटानगर स्टेशन पर वापस लाया गया। इस दौरान एंबुलेंस के साथ डॉक्टर भी स्टेशन पर आ चुके थे।

मां और बच्चे को अस्पताल भेजा गया
परिजनों ने बताया कि सुबह करीब पौने पांच बजे महिला को एंबुलेंस से पहले रेलवे अस्पताल ले जाया गया, लेकिन रेलवे अस्पताल में सुविधा का अभाव होने के कारण उसे सदर अस्पताल ले जाया गया। वहां भी पर्याप्त इलाज नहीं मिल पाया। इसके बाद एंबुलेंस से उन्हें एमजीएम अस्पताल पहुंचाया गया। बच्चे का गर्भनाल भी एमजीएम में ही काटा गया। इसके बाद नवजात को जरूरी इंजेक्शन दिए गए। फिलहाल जच्चा-बच्चा स्वस्थ हैं। ट्रेन को लगभग एक घंटे विलंब से रवाना हुई।

Find Us on Facebook

Trending News