Bengal election : नेताओं कूचबिहार में “कूच” करने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक, गुस्से में अब “दीदी” करेंगी यह काम

Bengal election : नेताओं कूचबिहार में “कूच” करने पर चुनाव आयोग ने लगाई रोक, गुस्से में अब “दीदी” करेंगी यह काम


Kolkotta : कूचबिहार में चौथे चरण की वोटिंग के दौरान CISF की फायरिंग मामले में चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला किया है। आयोग में सीएम ममता बनर्जी सहित किसी भी नेता के अगले 72 घंटे तक कूचबिहार आने पर रोक लगा दी है। आयोग के निर्देश के बाद अब ममता बनर्जी गुस्से में है। बताया जा रहा है कि अब कूचबिहार की घटना के विरोध में टीएमसी ने पूरे बंगाल में प्रदर्शन करने की घोषणा की है। बता दें कि कल वोटिंग के दौरान फायरिंग में पांच युवकों की मौत हो गई थी।

ममता ने कूचबिहार जाने का किया था ऐलान

इससे पहले कूचबिहार के शीतलकूची में फायरिंग के बाद ममता बनर्जी ने उत्तर 24 परगना की एक रैली में ऐलान करते हुए कहा था कि वे कल घटनास्थल पर जाएंगी और परिजनों से मिलकर सच जानेंगी. अब आयोग की रोक के बा ममता ने इस मामले में निष्पक्ष जांच कराने की भी बात कही. टीएमसी सुप्रीमो ने घटना के लिए गृहमंत्री अमित शाह को जिम्मेदार ठहराया.

राज्य में प्रदर्शन करेगी टीएमसी

टीएमसी सांसद सौगत राय ने मीडिया को बताया कि मारे गए पांच युवकों के लिए पूरे राज्य में प्रदर्शन करेगी. पार्टी के नेता और कार्यकर्ता पंचायत और वार्ड स्तर पर प्रदर्शन करेंगे. उन्होंने कहा कि हम उन युवकों को न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ते रहेंगे।

फायरिंग के लिए ममता पर बीजेपी ने फोड़ा ठिकरा

कूचबिहार मामले के लिए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है. घोष ने कहा कि ममता बनर्जी रैली में लोगों को सेंट्रल फोर्स के खिलाफ उकसाती है, उनपर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि जो लोग सेंट्रल फोर्स का घेराव करते हैं, वो एंटी सोशल हैं.

बता दें कि कल वोटिंग के दौरान कुछ युवकों द्वारा सीआईएसएफ के जवानों से हथियार छिनने की कोशिश कर रहे थे। ऐसे में सुरक्षाबलों की जवाबी फायरिंग में पांच युवकों की मौत हो गई थी, जिसके बाद वहां चुनाव रद्द कर दिए गए। फिलहाल यहां स्थिति तनावपूर्ण है।


Find Us on Facebook

Trending News