भाजपा का बड़ा दांव, सीएम पद से जिसने दिया इस्तीफा उसे दिया एक साथ दो दो बड़ा पद

भाजपा का बड़ा दांव, सीएम पद से जिसने दिया इस्तीफा उसे दिया एक साथ दो दो बड़ा पद

DESK. मुख्यमंत्री पद से अचानक इस्तीफा देने के चार महीने बाद, बिप्लब देब को शुक्रवार को भाजपा ने त्रिपुरा में राज्यसभा उपचुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवार के रूप में नामित किया। हरियाणा के लिए पार्टी प्रभारी घोषित किए जाने के कुछ घंटे बाद यह घोषणा की गई। बता दें कि राज्यसभा सांसद माणिक साहा के देब की जगह सीएम बनने के बाद राज्य की एकमात्र उच्च सदन की सीट खाली हो गई थी। इसके साथ ही बिप्लब देब को भाजपा में एक संगठनात्मक भूमिका दी गई है और हरियाणा में पार्टी मामलों का प्रभारी बनाया गया है।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और कार्यालय प्रभारी अरुण सिंह द्वारा जारी एक अधिसूचना में कहा गया है कि पार्टी के केंद्रीय चुनाव निकाय ने देब को 22 सितंबर को होने वाले उपचुनाव के लिए उम्मीदवार के रूप में नामित किया है। 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 25 साल बाद त्रिपुरा में वामपंथियों को सत्ता से हटा दिया। जिसके बाद मुख्यमंत्री के रूप में विप्लेब देव को चुना गया। लेकिन मई के महीने में ही त्रिपुरा के सीएम बिप्लब कुमार देव को मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया। भाजपा कभी भी स्पष्ट कारण के साथ सामने नहीं आई कि उन्हें क्यों पद छोड़ना पड़ा, सिवाय इसके कि वह संगठनात्मक गतिविधियों में वांछित थे और यह आलाकमान का निर्णय था। जबकि देब ने सार्वजनिक रूप से यह कहते हुए नजर आए कि पार्टी सबसे ऊपर है। मैं पार्टी के फैसले का सम्मान करता हूं और मेरा मार्गदर्शन करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद देता हूं। 

बाद के कुछ मौकों को छोड़ दें तो में बिप्लब कुमार देव शांत हो गए और भाजपा की गतिविधियों से खुद को काफी हद तक अलग कर लिया। इतना ही नहीं उन्होंने सीएम के रूप में अपने कब्जे वाले बंगले को अभी तक खाली नहीं किया है, जिससे साहा को दूसरे घर में जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। त्रिपुरा में राज्यसभा सीट के लिए उपचुनाव 22 सितंबर को होगा। डॉ माणिक साहा के त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्ति के बाद इस साल जुलाई में इस्तीफा देने के बाद यह सीट खाली हो गई थी।

 देब ने नामांकन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। उन्होंने कहा, "मैं त्रिपुरा और उसके लोगों के विकास और कल्याण के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध हूं।"इस बीच, त्रिपुरा में वाम मोर्चा ने राज्यसभा उपचुनाव के लिए पूर्व वित्त मंत्री और विधायक भानुलाल साहा को अपना उम्मीदवार बनाया है।


Find Us on Facebook

Trending News