BIHAR NEWS : रात में सोने गए तो मासूम बच्चों ने माता पिता को देखा साथ, सुबह उठे तो जमीन पर पड़ी थी मां की लाश, फंदे पर झूल रहा था पिता का शव

BIHAR NEWS : रात में सोने गए तो मासूम बच्चों ने माता पिता को देखा साथ, सुबह उठे तो जमीन पर पड़ी थी मां की लाश, फंदे पर झूल रहा था पिता का शव

DEHRI : तीन छोटे बच्चे, जिनकी उम्र महज पांच, छह और सात साल की है। इन बच्चों के लिए रविवार और सोमवार के बीच की रात ऐसा तूफान लेकर आई, जिसके बारे में सोचकर ही किसी की रूह कांप जाएगी। रात में जहां इन बच्चों के सिर उनके माता पिता का साया था, सुबह होते ही दोनों ने यह साथ छोड़ दिया. जहां जमीन पर बच्चों की मां की लाश पड़ी थी, जिन्हें वह उठाने की कोशिश कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ फांसी के फंदे से झूलते पिता थे। उन बच्चों को अनुमान भी नहीं था कि कुछ घंटे में वह अनाथ हो जाएंगे। 

यह हृदय विदारक घटना रोहतास थाना क्षेत्र के बंजारी की है।में  रविवार रात पूरन भुइयां (30) ने पत्‍नी चिंता देवी (25) की गला दबाकर पत्‍नी की हत्‍या कर दी इसके बाद खुद भी फांसी लगा ली। घटना की जानकारी सोमवार को हुई। पति-पत्‍नी की मौत से सनसनी फैलगई। सूचना पर पहुंची पुलिस नेशव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल सासाराम भेज घटना का कारण आर्थिक तंगी के कारण पारिवारिक कलह बताया जाता है। ग्रामीणों ने बताया किपूरन भुईयां व उसकी पत्‍‍‍‍नी चिंता देवी के बीच रविवार रात झगड़ा हुआ था। झगड़े की आवाज उनलोगों ने भी सुनी थी। इसके बाद क्‍या हुआ पता नहीं। 

दिहाड़ी मजदूरी करते थे दंपती

समझा जाता है कि झगड़े के बाद गुस्‍से में पूरन ने गला दबाकर पत्‍नी की हत्‍या कर दी। इसके बाद खुद भी फंदे पर झूल गया। पड़ोसियों ने बताया कि पति-पत्‍नीदिहाड़ी मजदूरी का काम करते थे। लॉकडाउन में कहीं काम न मिलने के कारण दोनों के सामने रोजी-रोटी की समस्या खड़ी हो गई थी। जिसके कारण पति-पत्‍नी के बीच रोज-रोज किचकिच होती थी।

तीन छोटे बच्चे थे दंपती के

मृत दंपती के तीन छोटे बच्चे थे।सोमवार को उनकी बेटी खुशबू  (सात वर्ष), खुशी (छह वर्ष) और बेटा पवन (पांच वर्ष)  की सुबह में नींद खुली तो मां को बेसुध पड़ा देखा। वे मां को उठाने लगे। लेकिन काफी हिलाने-डुलाने के बाद भी कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो बच्‍चे पिता के कमरे में गए। उन्हें फंदे पर लटका हुआ देखकर बच्चे डर गए। वे डर से चीखने-चिल्‍लाने लगे। बच्चों के लगातार रोने पर आसपास के लोगों ने घर में आकर देखा तो वे वहां का नजारा देखकर सन्‍न रह गए। पत्नी बिस्तर पर मृत पड़ी हुई थी तो पति फंदे से झूला हुआ था।लोगों ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस को दी। इस दौरान तीनों बच्चों को देखकर यहां पहुंचे लोगों का दिल भी पसीज गया। लोगों का कहना था कि अब उनकी देखभाल कौन करेगा।

वहीं मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष राजीव रंजन ने दोनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सासाराम सदर अस्पताल भेज दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का दिख रहा है।पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से स्थिति और स्‍पष्‍ट होगी।   


Find Us on Facebook

Trending News