मद्य-निषेध मंत्री का ज्ञानः शराब माफियाओं का मनोबल बढ़ा नहीं बल्कि टूटा है, तनाव में पुलिस से कर रहे मुठभेड़

मद्य-निषेध मंत्री का ज्ञानः शराब माफियाओं का मनोबल बढ़ा नहीं बल्कि टूटा है, तनाव में पुलिस से कर रहे मुठभेड़

PATNA: बिहार में शराब माफियाओं का आतंक बढ़ते जा रहा है।शराबबंदी से पहले चोरी-छुपे शराब का कारोबार करने वाले माफिया शराबबंदी वाले राज्य में अब हथियारों से लैश होकर धंधा कर रहे। सीएम नीतीश के शराबबंदी वाले राज्य में शराब माफिया इतने ताकतवर हो गए हैं कि अब तो पुलिस पर फायरिंग कर रहे। सीतामढ़ी में शराब माफियाओं ने पुलिस पर फायरिंग की।पुलिस और शराब माफियाओं के बीच भिड़ंत में एक पुलिस कर्मी शहीद हो गए। वहीं चौकीदार घायल है जबकि एक शराब माफिया भी मारा गया है।इस पर नीतीश सरकार के मद्य निषेध मंत्री का ज्ञान जानकर आप चकरा जायेंगे।

शराब माफियाओं का मनोबल बढ़ा नहीं टूटा है-मंत्री

सुशासन राज में जहां शराबबंदी है बावजूद इसके शराब माफियाओं से लोग भयाक्रांत है। इसके बाद भी सरकार मानने को तैयार नहीं कि माफियाओं का मनोबल बढ़ रहा। बिहार के मद्ध निषेध मंत्री सुनील कुमार ने कहा कि सीतामढ़ी की घटना में पुलिस और मद्ध निषेध विभाग विधि सम्मत कार्रवाई कर रहा। मंत्री जी ने इस घटना पर सफाई देते हुए कहा कि शराब माफियाओं का मनोबल बढ़ नहीं रहा बल्कि टूट रहा है तभी वे इस तरह की घटना कर रहे। 

सीतामढ़ी में शराब माफियाओं ने एक दारोगा और चौकीदारी को गोली मार दी है। जिसमें दारोगा की अस्पताल पहुंचने से पहले मौत हो गई। वहीं चौकीदार की हालत गंभीर बताई जा रही है। मृत दारोगा का नाम दिनेश राम बताया जा रहा है। मामल जिले के मेजरगंज थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। जहां पुलिस को यह जानकारी मिली कि पास के कुंवारी गांव में शराब की तस्करी की जा रही है, जिसके बाद दारोगा दिनेश राम अपनी टीम लेकर वहां कार्रवाई के लिए पहुंचे थे। इस दौरान पुलिस को देखकर शराब तस्करों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिसमें दारोगा और उनके साथ मौजूद एक सिपाही को गोली लग गई। दोनों घायलों को इलाज के लिए अस्पताल लाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में ही दारोगा की मौत हो गई। 


Find Us on Facebook

Trending News