..तो पहले के राज में नहीं हुआ कोई काम ? तेजस्वी की मौजूदगी में CM नीतीश ने 2005 से अब तक अल्पसंख्यकों हित में किये काम को गिनाया

..तो पहले के राज में नहीं हुआ कोई काम ? तेजस्वी की मौजूदगी में CM नीतीश ने 2005 से अब तक अल्पसंख्यकों हित में किये काम को गिनाया

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज उर्दू अनुवादकों व अन्य उर्दू कर्मियों को नियुक्ति- पत्र दिया। संवाद में आयोजित कार्यक्रम में तेजस्वी यादव समेत अन्य मंत्री मौजूद रहे. अपने डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की मौजूदगी में सीएम नीतीश कुमार ने 2005 में जबसे बीजेपी के सहयोग से गद्दी संभाली, अल्पसंख्यकों के लिए किये गये विकास के कार्यों का जिक्र किया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने उर्दू के विकास के लिए कई काम किये हैं. नीतीश कुमार ने कहा कि हमने सरकारी स्कूलों में उर्दू शिक्षकों की बहाली शुरू कराई। हालांकि रफ्तार थोड़ी धीमी है. 

तेजस्वी की मौजूदगी में अल्पसंख्यकों के लिए किये गये कामों का किया बखान

सभा को संबोधित करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि हम लोग शुरू से ही लगे हुए हैं. 2008 में हमने तय किया कि जितने भी स्कूल हैं उसमें उर्दू के लिए भी बहाली होनी चाहिए. माध्यमिक विद्यालय में भी उर्दू शिक्षकों की बहाली होनी चाहिए. ऐसा हमने किया, ऐसा इसलिए किया ताकि उर्दू की जानकारी लोगों को हो. हम तो जितना चाहते हैं उतना बहाली नहीं हुई है. इसके साथ ही अल्पसंख्यकों के कल्याण को लेकर 2005 के बाद सरकार के द्वारा शुरू की गई योजनाओं का जिक्र किया। नीतीश कुमार ने कहा कि पटना का अंजुमन इस्लामिया हॉल कितना बड़ा और सुंदर बन गया .इसी तरह से पटना सिटी में शिया वक्फ बोर्ड का भी हॉल बन रहा है. सब तरह का काम हो रहा है. इसके अलावे हर जिला में वक्फ की भूमि पर 10प्लस2 विद्यार्थियों के लिए अल्पसंख्यक आवासीय स्कूल बना रहे हैं. लेकिन जमीन मिलने में देरी हो रही है .अभी चार-पांच जगह का ही हुआ है. नीतीश कुमार ने वक्फ बोर्ड के प्रतिनिधियों से हाथ जोड़कर कहा कि याद रखिए. जल्दी से जल्दी जमीन वाला काम करा दीजिए, ताकि सभी जगह बन जाए.लेकिन आप लोग जमीन पर ध्यान नहीं दे रहे हैं. बोर्ड का कुछ लोग घच-पच करते रहता है.  

नीतीश कुमार ने कहा कि आप लोग आप लोग तो जानते ही हैं. हमने 2012-13 में अल्पसंख्यक रोजगार लोन योजना की शुरूआत की थी. जिसमें रोजगार के लिए 5 लाख का ऋण दे रहे थे. 2018 में अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए 10 लाख जिसमें पांच लाख अनुदान और पांच लाख रू कर्ज दे रहे. 2020 में अति पिछड़ा लोगों के लिए भी रोजगार योजना शुरू कर दिया. बाद  में हम लोगों ने सभी महिलाओं के लिए इस योजना को लागू कर दिया. इसके बाद सभी लोगों के लिए।इससे फायदा हो रहा है .लोगों को रोजगार में काफी मदद मिल रही. 

नीतीश कुमार ने एक बार फिर विशेष राज्य के मुद्दे पर केंद्र की सरकार को घेरा। सीएम नीतीष ने कहा कि हम लोग तो एक गरीब राज्य हैं. लेकिन हम लोगों को जो मदद मिलनी चाहिए थी वह मिली नहीं. हम लोगों ने तो विशेष राज्य के दर्जा की मांग की थी, लेकिन मिला नहीं. अगर वह मिल गया होता तो हम लोग कितना आगे बढ़ते. सभी पिछड़े राज्यों को मिलना चाहिए विशेष राज्य का दर्जा. स्पेशल स्टेटस नहीं मिला इसके बाद भी हम लोग अपने स्तर से कोशिश कर रहे हैं. हम तो हर बार कहते हैं कि आजकल प्रचार-प्रसार हो रहा है, केंद्र की सरकार पर तंज कसते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि झूठे प्रचार प्रसार में लगा रहता है. कहीं कुछ हो रहा है क्या, गरीब गुरबा राज्यों में कुछ हो रहा है. कुछ होता नहीं है, लेकिन प्रचार प्रसार होते रहता है. हम लोग इतना काम करते रहते हैं. कितना काम करते रहें हैं. हम तो ऐसे ही मीटिंग में चर्चा कर देते हैं. आजकल तो चल गया है, मोबाइल पर सब चल गया है. सब ट्वीट करते रहता है।  

सीएम नीतीश ने कहा कि चीफ सेक्रेटरी साहब आप यहां बैठे हुए हैं... मुख्य सचिव की तरफ देखते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि प्रवचन तो आपने अच्छा दिया, लेकिन आप भूल गए. आप तो 2007 से यहां हैं. आप भूल गए... अब हम आपको चीफ सेक्रेटरी बनाये हुए हैं. अब आपको काम है देखना.आप बहाली कराइए .आप के बगल में बैठे हुए हैं दीपक कुमार, यह भी चीफ सेक्रेटरी थे. हमने इनको कह दिया है. यह सारे लोग जो अधिकारी बैठे हुए हैं सबको कहते रहते हैं कि बहाली करवाईये.   शुरू में पूरा बहा्ली ही नहीं करा पाये. ज्यादा बहाली होनी चाहिए थी. नीतीश कुमार ने कहा कि आजकल जो माहौल उत्पन्न करने की कोशिश हो रही है वह तो गड़बड़ है. हम चाहते हैं कि सब जगह सद्भाव और प्रेम का माहौल रहे. 2005 से ही हम यही शब्द बोलते रहें और करते रहे हैं.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डिप्टी सीएम ने नवनियुक्त उर्दू अनुवादकों को नई जिम्मेदारी के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि ईने वाले दिनों में लाखों भाइयों के चेहरे पर मुस्कान लाएंगे. हमारे मुख्यमंत्री यह काम कर रहे हैं. देश की सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है. नौजवानों को काम नहीं मिल रहा है. बेरोजगारी देश का दुश्मन है. बिहार सरकार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में हम लोगों का प्रयास है कि जितने भी विभाग हैं, उनमें जो रिक्त पद हैं उनको जल्द से जल्द भरा जाए. रिक्त पद जब भरी जाती हैं उससे विभाग और मजबूत होता है, उसको बल मिलता है .इस काम में हम लोग लगे हुए हैं. नियुक्ति पत्र वितरण हर डिपार्टमेंट में किया जा रहा है. इसकी शुरुआत हो गई है. इतना हम जरूर कहेंगे कि नीतीश जी और महागठबंधन सरकार के रहते हुए भाईचारा, अमन चैन और शांति कायम रहेगा.

Find Us on Facebook

Trending News