बिहार चुनाव में जातिवाद की राजनीति, जीतन राम मांझी ने कहा- हमारी सरकार बनी तो दलितों को मिलेगा घर और जमीन

बिहार चुनाव में जातिवाद की राजनीति, जीतन राम मांझी ने कहा- हमारी सरकार बनी तो दलितों को मिलेगा घर और जमीन

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के बीच नेताओं के वादे लगातार बढ़त बढ़ते जा रहे हैं. चुनाव को जीतने की चाह में सभी पार्टियां अपनी अपनी राजनीति में लगी हुई है. ऐसे में पूर्व मुख्यमंत्री व हम पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि एनडीए की सरकार बनी तो भूमिहीन परिवारों को बाजार रेट से खरीद कर एक-एक एकड़ जमीन मुफ्त में दी जायेगी। दलित परिवारों के लिए सभी सुविधाओं से लैस एक-एक घर बनाया जायेगा। वे शुक्रवार को छपरा के एकमा विधानसभा क्षेत्र के जनता बाजार और गोपालगंज के हथुआ में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे।

जीतन राम मांझी ने नीतीश सरकार की उपलब्धियों को गिनाया और विकास के नाम पर उपस्थित जनसमूह से वोट मांगा। कहा कि सीएम नीतीश कुमार ने दलितों को काफी मान-सम्मान दिया है। यह नीतीश कुमार की देन है कि वे बिहार में नौ महीने तक सीएम रहे। वहीं दलित वर्ग से आने वाले उदय नारायण चौधरी दो टर्म विधानसभा के अध्यक्ष रहे। बिहार की कमान नीतीश कुमार के सुरक्षित हाथों में है। इसलिये इस बार उनके हाथों को मजबूत करना है। मांझी ने कहा कि राजद की सरकार में युवाओं को रोजगार नहीं मिलेगा। राजद सरकार में अगर रोजगार मिलेगा भी तो अपहरण उद्योग से मिलेगा।

जदयू- भाजपा पर साधा राजद ने निशाना 

राजद सांसद और मुख्य प्रवक्ता मनोज झा और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा है कि नीतीशजी तेजस्वी यादव और प्रधानमंत्री राहुल गांधी के परिवार पर निजी टिप्पणियां कर रहे हैं। चुनाव में देश-विदेश की बातें तो कर रहे हैं, लेकिन बिहार के लिए इनके पास कुछ नहीं है। शुक्रवार को राजद कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव और राहुल गांधी ने बिहार के युवाओं और जनता की मदद से चुनावी एजेंडा सेट कर दिया है। बिहार के इस एजेंडे ने विरोधियों की नींद उड़ा दी है। कहा कि मुंगेर में पुलिस का झूठ सामने आ गया है।

Find Us on Facebook

Trending News