लालू राज पर भड़के सीएम नीतीश, कहा- हथियार लहराने वाला 'वो' तस्वीर वायरल कीजिए

लालू राज पर भड़के सीएम नीतीश, कहा- हथियार लहराने वाला 'वो' तस्वीर वायरल कीजिए

PATNA  : बिहार विधानसभा चुनाव के चुनावी मैदान में उतरने के लिए आज सीएम नीतीश ने चुनावी बिगूल फूंक दिया है. जदयू की वर्चुअल रैली के जरिए सीएम नीतीश कुमार ने चुनावी दंगल के लिए शंखनाद किया. सीएम नीतीश कुमार ने चुनावी मोड में आते ही राज राज पर जमकर हमला किया.
मियां बीवी के राज में गाड़ी से रायफल निकालता था
जदयू की वर्चुअल रैली में सीएम नीतीश कुमार ने लालू राज पर जमकर अटैक किया.नीतीश कुमार ने कहा कि लालू राज में जो अपराध था उसके बारे में बताना चाहिए. मियां बीबी के राज में लोग कैसे गाड़ी से बदूंक निकाल कर चलते थे. आगे उन्होंने कहा कि हम लोगों को मौका मिला तो पहले क्या थी विधि व्यवस्था की और आज क्या है. बिना नाम लिए तेजस्वी पर अटैक करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि लोग क्या क्या बोलते हैं और खबर छप भी जाती है.  पहले सामूहिक नरसंहार होता था और आज क्या स्थिति है जरा बताइए... हर प्रकार से हम लोगों ने काम किया, लेकिन कुछ लोग कुछ भी बोलते रहते हैं.  उन्होंने कहा कि हमारी सरकार क्राइम, करप्शन और कम्युनलिज्म को हम बर्दाश्त नहीं कर सकती है. जीरो टोलरेंस पर हम काम करते हैं और कहीं भी गलत चीज बर्दाश्त नहीं कर सकते.

लोग हमको क्विंटलिया बाबा कहने लगे
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोगों को जब काम करने का मौका मिला तो बाढ़ राहत पर काम करना शुरू किया.  2007 में बाढ़ से 22 जिला प्रभावित हुई थी, ढाई करोड़ की आबादी इससे प्रभावित हुई थी . तब  हमारी सरकार ने  किस तरीके से काम किया किसी से छुपा हुआ नहीं है. हम लोग पीड़ित परिवार के बीच  एक-एक क्विंटल अनाज बांटने लगे. जब हम दरभंगा इलाके में गए तो लोग हमें क्विंटलियाा बाबा बोलने लगे. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि ये सब बातें युवाओं को जानना चाहिए.


लॉकडाउन में मजदूरों भाइयों की सरकार ने की मदद
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि जब लॉकडाउन लागू हुआ उसके बाद बिहार के बाहर फंसे हुए लोगों को हमने मदद पहुंचाई. हमने लोग बाहर फंसे हुए मजदूरों से संपर्क साधा और उनके खाते में एक-एक हजार रुपए की राशि भेजी. बिहार सरकार ने मुख्यमंत्री राहत कोष से 20 लाख 95000 लोगों के खाते में राशि भेजी गई. 

काम करते हैं प्रचार नहीं
सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमलोग काम करने में यकीन करते हैं प्रचार में नहीं. उन्होने कहा लोगों की सेवा करना हमारा कर्तव्य है.कुछ लोगों का काम कम करना है और प्रचार अधिक करना है जबकि हमें प्रचार पर विश्वास नहीं है हमें तो कर्म करना है.

Find Us on Facebook

Trending News