लालू यादव ने ठीक ही कहा सरकारी अस्पतालों में रुई-सुई मिल जाए तो भगवान का शुक्रिया अदा करना, नीतीश राज का यह अस्पताल सुप्रीमो के आरोपों की दे रहा गवाही

लालू यादव ने ठीक ही कहा सरकारी अस्पतालों में रुई-सुई मिल जाए तो भगवान का शुक्रिया अदा करना, नीतीश राज का यह अस्पताल सुप्रीमो के आरोपों की दे रहा गवाही

PATNA: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर बड़ा हमला बोला था। 2दिन पहले राजद सुप्रीमो ने कहा था कि बिहार के अस्पतालों में रुई और सुई भी मिल जाए तो भगवान का शुक्रिया अदा कर देना रे भाई।लालू यादव के इस ट्वीट के बाद सत्ताधारी जेडीयू ने करारा जवाब दिया था।लेकिन लालू प्रसाद यादव ने स्वास्थ्य व्यवस्था की जो पोल खोली वह सच्चाई के करीब है।हकीकत यही है कि बिहार के अधिकांश सरकारी अस्पतालों में  रुई-सुई बीपी मशीन व स्टीच नहीं है।अगर जिस अस्पताल में ये मिल जाये तो यह बहुत बड़ी बात है। हम आपको एक सरकारी अस्पताल की हकीकत बताते हैं।उससे पता चल जायेगा कि लालू प्रसाद ने जो सवाल उठाये हैं उसमें कितनी सच्चाई है।

बिना बीपी मशीन व स्टीच सुई के चलता है अरेराज अनुमंडलीय अस्पताल


नीतीश सरकार लोगो को स्वास्थ्य सुविधा देने के चाहे लाख दावा कर ले लेकिन घरातल की तस्वीर कुछ अलग ही बयां करती है ।पूर्वी चंपारण जिला का अरेराज अनुमंडलीय अस्पताल की व्यवस्था सरकार व स्वास्थ्य विभाग की पोल खोलने के लिए काफी है ।अस्पताल में बिना बीपी मशीन व स्टिच निडिल के मरीजों का इलाज किया जाता है ।जब मरीज बेड पर इमरजेंसी में जाता है तो परिजनों को ही बीपी मशीन व  स्टिच निडिल की व्यवस्था करनी पड़ती है । आबादी का जब 20 से 30 प्रतिशत लोग ब्लड प्रेशर की बीमारी से ग्रसित हो और अस्पताल में बीपी मशीन तक नही तो समझा जा सकता है कि बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था कैसी है।

तो लालू यादव ने ठीक हीं कहा----

अरेराज अनुमंडलीय अस्पताल में बड़े-बड़े बिल्डिंग बन गए। सभी प्रकार के स्वास्थ्य सुबिधा 24 घंटे मिलने की दावा पर आम लोगो को राहत मिलने की उम्मीद जगी। अनुमंडलीय अस्पताल में बड़े बड़े बिल्डिंग बने,टाइल्स लगे ,प्रभारी कक्ष में वीआईपी कुर्सी टेबल जरूर लग गए .अस्पताल में डाक्टर ,एएनएम की पोस्टिंग भी हो गई .लेकिन अस्पताल की स्वास्थ्य व्यव्यस्था कुछ अलग ही बयां कर रही है .अस्पताल में इलाज के लिए इमरजेंसी में जाने वाले मरीज के जांच के लिए बीपी मशीन व स्टीच निडिल तक कि सुविधा नही है .बहादुपुर पंचायत के अजित मिश्र ने बताया कि शनिवार सुबह उनकी दादी लखपति देवी चक्कर आने से गिर गई .आनन फानन में अरेराज अनुमंडलीय अस्पताल लेकर गए .दर्द व बेचैनी से मरीज इमरजेंसी बेड पर कराह रहा था .इमरजेंसी में उपस्थित डाक्टर साहब पहुचकर मरीज को देखे .मरीज का गिरने से सर भी फट गया था .डाक्टर साहब बीपी मशीन व स्टिच निडिल के लिए चार बार कंपाउंडर को बोले .कंपाउंडर पूरी अस्पताल का चक्कर लगाकर आधा घण्टा बाद एक पुरानी मशीन लेकर आया .जो पहले से खराब था .परिजनों ने मरीज की बेचैनी देख अस्पताल चौक के प्राइवेट क्लिनिक से बीपी मशीन लेकर गया तो मरीज का बीपी जांच किया गया .जब माथा में कट में स्टिच करने की बात आयी तो अस्पताल में स्टिच निडिल भी नही था .अंत मे मरीज बाजार के दुकान से खरीदकर लाया तो स्टिच किया गया .

क्या कहते हैं अधिकारी

इस संबंध में अस्पताल उपाधीक्षक से पुछने पर बताया गया कि बीपी मशीन नही होने की बात किसी कर्मी द्वारा नही बताया गया था .वही अस्पताल में स्टीच निडिल भी नही होना बहुत ही गंभीर मामला है .जल्द ही व्यव्यस्था में सुधार लाया जाएगा. वहीं अनुमंडल पदाधिकारी धीरेन्द्र कुमार मिश्र ने बताया कि अस्पताल में बीपी मशीन व स्टीच निडिल नही रहना बहुत ही गंभीर मामला है .इसकी जांच की जा रही है .स्वास्थ्य व्यवस्था में लापरवाही करने वाले के खिलाफ कड़ी करवाई की जाएगी .

अरेराज से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News