नगर आयुक्त के खिलाफ धरना पर बैठे मेयर और उपमेयर, विकास अवरुद्ध करने का लगाया आरोप

नगर आयुक्त के खिलाफ धरना पर बैठे मेयर और उपमेयर, विकास अवरुद्ध करने का लगाया आरोप

BHAGALPUR : -भागलपुर नगर -निगम कार्यालय के समक्ष नगर आयुक्त के अफसरशाही और विकास अवरुद्ध करने के खिलाफ वार्ड पार्षद सहित मेयर, उपमेयर ने धरना प्रदर्शन किया. इस दौरान सभी वार्ड पार्षदों ने कई गंभीर आरोप लगाए. धरना पर बैठे मेयर सीमा साहा ने कहा कि नगर आयुक्त जे प्रियदर्शनी दफ्तर नही आते है, जिसके कारण किसी योजना में सहमति नही बन पाती है और विकास अवरूद्ध हो जाता है. 

वहीं भागलपुर स्मार्ट शहर होने के बाबजूद नगर क्षेत्र स्वच्छता सर्वेक्षण में सबसे निचले पायदान पर चला गया है. शहर के विकास को गति देने के लिए करोड़ों रुपया पड़ा हुआ है. इसके बावजूद नगर आयुक्त की निक्कमेपन की वजह से शहर की जनता के गुस्से का कोपभाजन जनप्रतिनिधि बन रहें हैं. 


वहीं उपमेयर राजेश वर्मा ने कई आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार जनप्रतिनिधि से समन्वय स्थापित कर विकास की गति देने के लिए एक आईएएस नियुक्त करती है. लेकिन आयुक्त के निकम्मेपन के कारण शहर का सभी विकास कार्य ठप्प है. नगर निगम कार्यालय में भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार है. बिना पैसा दिये कोई कार्य नही होता है. 

वहीं धरना पर बैठे आक्रोशित पार्षदों को देखकर नगर आयुक्त धरनास्थल पर पहुँचे. धरना स्थल पर पहुँचते ही नगर आयुक्त शालीनता से पेश आते हुए सभी कार्यो में समन्वय स्थापित कर कार्यों को अमलीजामा पहनाने के  अश्वासन पर धरना को समाप्त किया गया.

भागलपुर से मनोज कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News