नाबालिग बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या के विरोध में स्थानीय लोगों ने गया-पटना मार्ग को किया जाम

नाबालिग बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या के विरोध में स्थानीय लोगों ने गया-पटना मार्ग को किया जाम

गया। गत दिनों जिले के बेलागंज प्रखंड में एक नाबालिग बच्ची की दुष्कर्म के बाद हुई हत्या की घटना के विरोध में आज आक्रोशित स्थानीय लोगों ने गया-पटना मुख्य सड़क मार्ग को जाम कर दिया। लोगों ने बेलागंज थाना क्षेत्र के गया-पटना मुख्य सड़क मार्ग के रामपुर मोड़ के समीप सड़क जाम कर दिया। इस दौरान लोगों ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए सड़कों पर आगजनी की।

इस संबंध में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के  प्रदेश महासचिव विनय कुशवाहा ने कहा कि बेलागंज के मेन थाना क्षेत्र के धनकी बेला गांव में नाबालिक लड़की को बलात्कार कर गला घोट कर हत्या करने वाले अपराधियों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है । इस घटना के उपरांत पुलिस को परिवार वालों ने फोन किया था लेकिन पुलिस ने त्वरित कोई करवाई नहीं किया और घटना पर आने में काफी विलंब किया इससे साबित होता है की पुलिस की भूमिका संदिग्ध है अपराधियों को गिरफ्तार करने में पुलिस कोताही बरत रही है।     श्री कुशवाहा ने कहा कि मेन थाना अध्यक्ष पर भी कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि इस तरह का कुकृत्य घटना को अंजाम देने वाले अपराधी घटना के 24 घंटा बीत जाने के बावजूद भी पुलिस द्वारा गिरफ्तार नहीं करना अपराधियों को संरक्षण देने के जैसा लग रहा है। रालोसपा मांग करती है कि दोषियों को जल्द गिरफ्तार किया जाए और उनके खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलाया जाए।

 जिलाध्यक्ष राजीव प्रकाश उर्फ बंटी कुशवाहा ने कहा कि गत दिनों नाबालिग बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई। लेकिन पुलिस अभी तक अपराधियों का पता लगाने में विफल है। हम अधिकारियों से मांग करते हैं कि एसआईटी गठित करते हुए घटना में शामिल दोषियों को अविलंब गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए। अन्यथा हमारा आंदोलन जारी रहेगा। वहीं युवा रालोसपा के प्रदेश महासचिव जितेंद्र कुमार पासवान ने कहा कि घटना के 3 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अपराधियों को नहीं पकड़ सकी है। इस घटना के बाद से महिलाएं अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रही है। पीड़ित परिवार काफी निर्धन है। अभी तक उनकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया है। स्थानीय थानाध्यक्ष की भूमिका संदिग्ध है। हमलोगअधिकारियों से मांग करते है कि स्थानीय थाना प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए घटना में शामिल दोषियों का पता लगाते हुए उन्हें जेल भेजा जाए। ताकि इस तरह की घटना पुनरावृत्ति न हो।

Find Us on Facebook

Trending News