सुखाड़ का हाल जानने निकले नीतीश कुमार, कई जिलों का किया हवाई सर्वेक्षण, अब होगी बड़ी घोषणा

सुखाड़ का हाल जानने निकले नीतीश कुमार, कई जिलों का किया हवाई सर्वेक्षण, अब होगी बड़ी घोषणा

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सुखाड़ की स्थिति का जायजा लेने के लिए रविवार को पूर्वी बिहार के आधा दर्जन जिलों का हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं. मुख्यमंत्री द्वारा अल्प वर्षापात से प्रभावित जिलों का यह हवाई सर्वेक्षण पटना, नालंदा, शेखपुरा, लखीसराय, जमुई, मुंगेर, बांका, भागलपुर, खगड़िया, समस्तीपुर में हो रहा है. वे इन जिलों का हवाई सर्वेक्षण करने बाद पटना वापस लौटेंगे और स्थिति पर अधिकारियों के साथ चर्चा कर सकते हैं. दरअसल, बिहार में इस साल औसत से कम बारिश हुई है. इसका नतीजा हुआ है कि धान की रोपनी प्रभावित हुई है. खरीफ की फसलों को भारी नुकसान हुआ है. 

सुखाड़ प्रभावित जिलों का जायजा लेने के लिए नीतीश कुमार पहले भी हवाई सर्वेक्षण कर चुके हैं. सात ही वे सड़क मार्ग से भी जमीनी स्थिति का पिछले दिनों आकलन किए थे. अब एक बार फिर से नीतीश कुमार ने हवाई सर्वेक्षण कर जिलों में अल्प वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों की  मौजूदा स्थिति को नजदीक से देखा है. माना जा रहा है कि नीतीश कुमार अपने इस हवाई सर्वेक्षण के बाद राज्य के प्रभावित जिलों को लेकर कोई ठोस कार्य योजना बना सकते हैं. इसमें आने वाले समय में इसका बिहार में जल संचयन और सिंचाई पर पड़ने वाला असर और किस कदर से खेती प्रभावित होगी उसकी रुपरेखा बनाकर समस्याओं से निपटने का काम किया जाएगा. 

सूत्रों का अनुसार सुखाड़ से होने वाली परेशानी और इससे प्रभावित किसानों को मुआवजा दिलाने के लिए केंद्र सरकार से आपदा राशि जारी करने की भी मांग की जा सकती है. हालांकि इस बारे में फ़िलहाल राज्य सरकार की ओर से कोई घोषणा नहीं की गई है. लेकिन कई राज्य अपने यहां के सुखाड़ की स्थिति से निपटने के लिए केंद्र से सुखाड़ राहत राशि की मांग करते रहे हैं. 

दरअसल, पिछले सप्ताह नीतीश कुमार के दिल्ली जाने और विपक्षी एकता को मंजबूत करने के लिए विपक्ष के 11 नेताओं से मिलने पर भाजपा ने कटाक्ष किया था. भाजपा ने कहा था कि राज्य का बड़ा हिस्सा सुखाड़ से जूझ रहा है और नीतीश दिल्ली में राजनीति चमका रहे हैं. अब नीतीश कुमार के एक प्रकार से भाजपा को जवाब देते हुए अल्प वर्षा प्रभावित जिलों का दौरा किया है. 


Find Us on Facebook

Trending News