कटिहार में नशाखुरानी गिरोह के मोस्टवांटेड को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जानिये रोज कितनी करता हैं कमाई

कटिहार में नशाखुरानी गिरोह के मोस्टवांटेड को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जानिये रोज कितनी करता हैं कमाई

KATIHAR : यात्रीगण कृपया ध्यान दें। रेल में सफर के दौरान अगर आप किसी के द्वारा दिए गए चाय या ठंडा पीते हैं तो आप नशा खुरानी गिरोह का शिकार हो सकते हैं। हाल के दिनों में कटिहार रेल मंडल में नशा खुरानी गिरोह के बढ़ते कहर के बाद रेल पुलिस ने नशा खुरानी गिरोह के मोस्ट वांटेड राजेश को गिरफ्तार किया है। राजेश जहां समस्तीपुर में चार्जशीटेड है, वही पटना रेल पुलिस के लिए वह वांटेड है। 


बताते चलें की पिछले कुछ समय से लगातार नशाखुरानी की घटनाएं रेल पुलिस की तेजतर्रार और पैनी निगाहों के दावे पर सवाल खड़ा कर रहा था। हाल के दिनों में 29 जून को जहां चार लोग नशा खुरानी गिरोह के शिकार हुए थे। वही एक 11 जुलाई को दो लोग और 16 जुलाई को चार लोग के अलावे पिछले दिनों भी नशाखुरानी से जुड़े अपराध के मोस्ट वांटेड राजेश कई लोगों को अपने जाल में फांस कर शिकार बनाते रहा है। लेकिन इस बार रेल पुलिस की पैनी नजर उसके गिरेबान तक पहुंच ही गया। रेल पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद राजेश ने जहां इस रैकेट का कई खुलासा किया है, वह काफी चौंकाने वाला है।

राजेश ने बताया की वह आसानी से अपने शिकार को रेलवे स्टेशन में ही फांसते हुए उससे घुल-मिलकर चाय या (माजा) कोल्ड ड्रिंक्स में मिलाकर नशे की दवा एक्टिवेन खिला देता हैं, जिससे यात्री बेहोश हो जाता है। इसके बाद वह सब कुछ लूट कर फरार हो जाता है। राजेश ने बताया की वह हर रोज अपने इस गोरखधंधे से चार से पांच हज़ार तक कमा लेता है। एक और बड़ा खुलासा करते हुए नशा खुरानी गिरोह के इस मोस्ट वांटेड ने कहा कि बिहार में बगैर डॉक्टरी पर्ची के नशे की दवा एक्टिवेन नहीं मिलने के कारण राजेश कोलकाता हावड़ा स्टेशन के पास एक दुकान से यह दवा अक्सर लेता है। इस बीच नशा खुरानी के शिकार युवा जिसका इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है। उसने कहा की बहन के शादी के लिए रुपया कमा कर घर लौट रहा था। ट्रेन में सफर के दौरान  एक व्यक्ति ने कुछ खिला दिया। फिर जब होश आया तो अस्पताल में अपने आप को पाया।

पूरे मामले का खुलासा करते हुए रेल एसपी ने कहा की नशा खुरानी गिरोह का राजेश हाल में लम्बी सजा काटने के बाद जेल से निकला है। इसके बाद फिर से वह इसी धंधे में लोगों का अपना शिकार बनाने लगा है। वह मुख्य रूप से समस्तीपुर जिला के मूसापुर के रहनेवाला हैं और समस्तीपुर में वह चार्ज शीटेड भी है। जबकि पटना रेल पुलिस के नजर में वह नशा खुरानी के मामले में ही मोस्ट वांटेड है। पुलिस ने कटिहार में घटना को अंजाम देने के बाद बेहद व्यवस्थित तरीके से इस शातिर को पक्के सबूतों के साथ गिरफ्तार किया है। रेल एसपी ने कहा की उसने खुद कबूला है कि वह हर रोज लगभग पांच हज़ार कमा ही लेता है। कभी कभार तो वह बड़ा हाथ मारते हुए एक ही दिन में पचास हज़ार तक भी यात्रियों को शिकार बनाते हुए कमाया है। हालांकि फिलहाल आरोपी राजेश रेल पुलिस के कब्जे में है, और उसे जेल भेजा जा रहा है।

कटिहार से श्याम की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News