संगीत की दुनिया में बिहार का परचम लहराने वाली सीतामढ़ी की शिवानी की सड़क हादसे में मौत

संगीत की दुनिया में बिहार का परचम लहराने वाली सीतामढ़ी की शिवानी की सड़क हादसे में मौत

सीतामढ़ी: इस वक्त कि बड़ी और दुःखद खबर बिहार के सीतामढ़ी से आ रही है। अपनी प्रतिभा से देश दुनिया में माँ सीता कि जन्मस्थली सीतामढ़ी का नाम राष्ट्रीय स्तर पर रौशन करने वाली मशहर संगीतकार शिवानी प्रिया कि आज मौत हो गई है। बतादे कि बीते रविवार रात्री मथुरा में एक कार्यक्रम कर शिवानी अपने पति के साथ निजी कार से लौट रही थी। इसी दौरान मथुरा टोल प्लाजा के निकट अनियंत्रित ट्रक ने शिवानी कि कार में पीछे से धक्का दिया। जिससे शिवानी के सर में चोट लगने के कारण वे गंभीर  रूप से जख्मी हो गई। वही उनके पति निखिल भी जख्मी हो गए थे। दोनों का ईलाज मथुरा में ही चल रहा था। इसी दौरान सोमवार कि रात्रि डेढ़ बजे शिवानी की मौत हो गई। परिजन शिवानी के पार्थिव शरीर के साथ मथुरा से उनके मायके नोएडा रवाना हो गए है। 

क्या थी शिवानी कि कहानी

शिवानी का जन्म 14 जुलाई 1994 को सीतामढ़ी में हुआ। मात्र 4 साल की नन्ही सी उम्र से उसने स्टेज परफॉर्मेंस करना शुरू कर दी। बचपन से ही शिवानी को गीत संगीत में रुचि थी। शिवानी को यह कला उनकी दादी स्व. गौरी सिन्हा से मिली। शिवानी के पिता का नाम जितेश कुमार सिन्हा और माता का नाम डॉ पूनम सिन्हा है। बचपन से ही परिवार का स्पोर्ट मिला और शिवानी की रुचि गीत संगीत में बढ़ती चली गयी थी। बहुमुखी प्रतिभा की धनी शिवानी स्कूल में गाते गाते वह सबकी चहेती सिंगर बन चुकी थी। स्कूल कॉलेज के दौरान ही सभी सांस्कृतिक कार्यक्रम में उसने भाग लिया। मेडल और पुरस्कार जीते। 10 वीं -12 वीं कक्षा में वह सीतामढ़ी की चर्चित सिंगर बन चुकी थी।

संगीत के कारण मिली थी स्कॉलरशिप

एनएसडीएवी, डूमरा की छात्रा रही शिवानी को संगीत के कारण ही स्कॉलरशिप मिली थी। लायन्स क्लब ऑफ सीतामढ़ी द्वारा ‘नाइटेंगल ऑफ सीतामढ़ी’ जैसे पुरस्कार से पुरस्कृत शिवानी अब तक दर्जनों अवार्ड, मेडल, प्रशस्ति पत्र प्राप्त कर चुकी थी। महिला दिवस के अवसर यूनिसेफ और कल्याण विभाग, बिहार सरकर द्वारा पटना में आयोजित एक कार्यक्रम में तत्कालीन राज्यपाल महामहिम सुंदरसिंह भंडारी के हाथों पुरस्कृत हो चुकी है शिवानी। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने शिवानी को ‘प्रदेश का अनमोल रत्न’ की संज्ञा दी। 

पति भी है सिंगर

शिवानी के पति का नाम निखिल भाटिया हैं। उनकी नन्ही सी लाडली बेटी का नाम डोरेन भाटिया है। शिवानी के पति निखिल भी म्यूजिक इंडस्ट्री से ही जुड़े है। दोनों संगीत के दुनिया मे एक दूसरे का साथ देते हुए अपना जलवा बिखेर रहे हैं।

सुरों का महासंग्राम’ से शिवानी को मिली नई पहचान

2012 में टीवी के चर्चित शो ‘सुरों का महासंग्राम’ से शिवानी को एक नई पहचान मिली। इस प्रतियोगिता में कुल 60 हज़ार प्रतिभागी हिस्सा लिए। जिसमे सिर्फ 32 का चयन किया गया। इस शो में शिवानी को तीसरा स्थान मिला। यानी शिवानी सुरों का महासंग्राम की उपविजेता बन कर संगीत की दुनिया में अपना एक अलग पहचान स्थापित कर ली थी। 

शिवानी के कुछ एलबम :

शिवानी के अब तक ढेर सारे एलबम आ चुके हैं। कई फिल्मों में भी शिवानी ने अपना स्वर दिया है। जैसे माई के दुलार, जय हो गढ़ी माई एवम कब अइहे सजनवा हमार। दिल को तुमसे प्यार हुआ, शगन, आते जाते,  नुक्कड़, चिट्ठी करारी, सेल्फी क्वीन आदि। शिवानी के वेडिंग सॉन्ग एलबम ‘शगन’ को सबसे ज्यादा पसंद किया गया। ये एलबम खूब सुर्खियां बटोरी।

Find Us on Facebook