गोल इंस्टीट्यूट ने किया शिक्षक दिवस समारोह का किया आयोजन, शॉल देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित

गोल इंस्टीट्यूट ने किया शिक्षक दिवस समारोह का किया आयोजन, शॉल देकर शिक्षकों को किया गया सम्मानित

PATNA : समाज और देश की सभ्यता और संस्कृति वहां के शिक्षकों पर ही निर्भर करता है. सभ्य, शिक्षित और सुसंस्कृत समाज की संरचना में शिक्षकों की भूमिका अहम् होती है. गोल इंस्टीट्यूट द्वारा पटना के बी आई ए हॉल में गोल इंस्टीट्यूट एवं लायंस क्लब आस्था के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित शिक्षक दिवस समारोह में शिक्षकों द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में दिए गए बहुमूल्य योगदान के लिए शाल देकर सम्मानित किया गया. 

सम्मानित शिक्षकों को संबोधित करते हुए गोल इंस्टीट्यूट के फाउंडर एवं मैनेजिंग डायरेक्टर विपिन सिंह ने कहा कि हम शिक्षकों के ऊपर समाज निर्माण की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. हमें अपनी खुशियों के ऊपर छात्रों के हित का ख्याल रखना आवश्यक है. सिंह ने कहा कि संबंधित विषय के शिक्षण के साथ-साथ छात्रों को नैतिक शिक्षा भी देना आवश्यक है. ताकि छात्र अच्छे प्रोफेशनल के साथ नैतिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए अच्छे इंसान बने. 

इस समारोह में लायंस क्लब पाटलिपुत्र आस्था के भावी प्रेसिडेंट डॉक्टर सुमन ने कहा कि शिक्षकों का स्थान ईश्वर के ऊपर इसलिए रखा गया है कि शिक्षक जीवन के अज्ञान रूपी अंधकार को ज्ञान रूपी प्रकाश से प्रज्वलित करते हैं. शिक्षकों के पास समाज निर्माण की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है. गोल इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर डॉक्टर ममता सिंह ने शिक्षकों को सम्मानित करते हुए कहा कि हमारा संस्थान कोविड से प्रभावित शिक्षकों के बच्चों को शिक्षित करने का व्यवस्था करेगा. शिक्षक सम्मान समारोह में गोल के पूर्ववर्ती शिक्षक जिनका कोरोना काल में कोरोना वायरस से निधन हो गया है. वैसे शिक्षकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई और उनके परिजनों को सम्मानित किया गया.

Find Us on Facebook

Trending News