जाप छात्र परिषद ने किया एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन, गिरफ्तार छात्रों को रिहा करने की मांग

जाप छात्र परिषद ने किया एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन, गिरफ्तार छात्रों को रिहा करने की मांग

PURNEA : जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के आह्वान पर पूर्णिया में जन अधिकार छात्र परिषद के द्वारा एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम का आयोजन जन अधिकार छात्र परिषद विजय कुमार रजक के द्वारा अपने ही आवास पर किया गया. भूख हड़ताल को लेकर उन्होंने कहा कि कोटा के छात्रों को लाने के लिए शांतिपूर्ण तरीके से पटना विश्व विद्यालय के गेट पर धरना दिया गया था. धरना में पटना विश्वविद्यालय के छात्र अध्यक्ष मनीष कुमार यादव समेत कई छात्र मौजूद थे. लेकिन पटना पुलिस ने उन सभी को गिरफ्तार कर लिया था. बिहार सरकार अपनी नाकामी को छुपाने के लिए छात्रों के आवाज को दबाने के लिए पटना विश्वविद्यालय अध्यक्ष मनीष कुमार समेत कई छात्रों को गिरफ्तार किया है. उसे जल्द से जल्द रिहा करें. बिहार की इस अंधी सरकार ने बिहार को लाचारी के अलावा कुछ नहीं दिया. जिसका खामियाजा बिहार की गरीब जनता और यहां के मजदूर भुगत रहे हैं.

उन्होंने कहा की छात्र और मजदूर कभी अच्छी शिक्षा के लिए पलायन तो कभी रोजगार के लिए राज्य से बाहर जा कर रोजगार की तलाश में भटकते रहते हैं. इस देश व्यापी लॉकडाउन के कारण गरीब मजदूर अपने गांव,अपने घर लौटना चाहते हैं. जिसके लिए उसको कोई बाध्य नहीं कर सकता है. क्योंकि वह उनका अधिकार है. 

इसलिए गरीब मजदूर वर्ग मुख्यमंत्री से घर आने के लिए मिन्नतें कर रहा है. इस दिशा में कोई खास पहल न होने के कारण सैकड़ो किलोमीटर का रास्ता भूखे प्यासे पैदल ही चल रहे हैं. इसके बावजूद सरकार का कलेजा किस पत्थर का है जो नहीं पसीजा.

ऐसी निकम्मी सरकार के विरुद्ध जन अधिकार परिषद ने पूरे बिहार में एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन किया है. एक दिवसीय भूख हड़ताल  पर जन अधिकार छात्र परिषद के प्रखंड अध्यक्ष विजय कुमार रजक छात्र नेता आयुष जायसवाल, सुमन जायसवाल, कवि कुमार मौजूद थे.

पूर्णिया से श्याम नंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News