एम जे अकबर मानहानि केस: बेल मिलने के बाद बोली महिला पत्रकार, कोर्ट को सुनाऊंगी असली कहानी

एम जे अकबर मानहानि केस: बेल मिलने के बाद बोली महिला पत्रकार, कोर्ट को सुनाऊंगी असली कहानी

N4N DESK: एम जे अकबर मानहानि केस में महिला पत्रकार प्रिया रमानी को अदालत ने 10 हजार के निजी मुचलके पर बेल दे दी है. बेल मिलने के बाद प्रिया रमानी ने कहा कि सत्य ही उनकी ढाल है. कोर्ट को अपनी पूरी कहानी बताऊंगी. कोर्ट ने ज्यादा वक्त लिए बिना ही प्रिया प्रिया रमानी को जमानत दे दी. 

आपको बता दें कि महिला पत्रकार प्रिया रमानी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री एम जे अकबर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इसके बाद एमजे अकबर ने पत्रकार प्रिया रमानी पर मानहानि का केस दर्ज कराया था. कोर्ट से जमानत मिलने के बाद प्रिया रमानी की तरफ से एक और अर्जी लगाई गई, जिसमें मामले की सुनवाई के दौरान उनकी व्यक्तिगत पेशी से छूट देने की गुहार लगाई गई थी, लेकिन एम.जे. अकबर के वकीलों ने प्रिया रमानी की अर्जी का विरोध किया. कोर्ट ने इस मामले में अकबर के वकीलों को अपना जवाब दाखिल करने के लिए 8 अप्रैल तक का समय दिया है.

जानिए क्या है पूरा मामला?

आपको बता दें कि एमजे अकबर पर करीब दो दर्जन महिला पत्रकारों ने आरोप लगाए थे. इसके बाद उन्हें मंत्री पद से इस्तीफा तक देना पड़ा था. एम जे अकबर पर पहला आरोप पत्रकार प्रिया रमानी ने ही लगाया था. रमानी के आरोपों के बाद अकबर के खिलाफ आरोपों की बाढ़ आ गई और एक के बाद एक कई अन्य महिला पत्रकारों ने उन पर ऐसे ही गंभीर आरोप लगाए. एमजे अकबर ने अपने खिलाफ लगे यौन शोषण के तमाम आरोपों को निराधार बताया था. अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ झूठे आरोप लगा कर बदनाम करने की साजिश रचने का मुकदमा दर्ज कराया है. 

Find Us on Facebook

Trending News