NDA की संकल्प रैली से प्रशांत किशोर गायब, पोस्टरबाजी से सतह पर आई आरसीपी और PK की रस्साकशी

NDA की संकल्प रैली से प्रशांत किशोर गायब, पोस्टरबाजी से सतह पर आई आरसीपी और PK की रस्साकशी

पटना- एनडीए की संकल्प रैली को लेकर गठबंधन की पार्टियों ने सारी ताकत झोक रखी है. गांधी मैदान में भीड़ जुटाने में कोई पार्टी पीछे नहीं रहना चाहती.भीड़ के माध्यम से हर पार्टी बिहार में अपनी पकड़ और समर्थन को दिखाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती. लेकिन इस होड़ में गठबंधन के साथ साथ पार्टी के अंदर चल रही रस्साकशी भी समान आने लगी है. पटना की सड़कों पर पोस्टरबाजी के तरीकों ने यह बताने में कोई कमी नहीं छोड़ी है कि एनडीए की इस रैली को नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने हाईजैक करने में लगी है.स्ट्रीट लाइट के ऊपर तीर वाला झंडा टांग कर पार्टी यह साबित करना चाहती है कि बिहार में नीतीश कुमार ही बड़े भाई की भूमिका में हैं. 

संकल्प रैली से प्रशांत किशोर गायब
एनडीए की संकल्प रैली से जेडीयू के अंदरखाने दो बड़े नेताओं के बीच चल रही खींचतान अब सतह पर दिखने लगी है. पटना की सड़कों पर जो पोस्टरबाजी की गई है उसमें आरसीपी सिंह ने लीड ले लिया है.शायद ही जेडीयू की ऐसी कोई पोस्टर हो जिसमें आरसीपी सिंह मौजूद न हो. लेकिन इन सब के बीच नीतीश कुमार के खास और थींक टैंक माने जाने वाले प्रशांत किशोर इस संकल्प रैली से गायब हैं. चर्चा के मुताबिक पूरे पटना के फेमस चौक चौराहों पर प्रशांत किशोर के केवल कुछ ही पोस्टर ही देखने को मिल रहा है. 

संकल्प रैली से आरसीपी सिंह ने किया कम बैक
राजनीतिक गलियारों में यह चर्चो जोरों पर है कि आरसीपी सिंह ने संकल्प रैली के माध्यम से फिर से पार्टी में अपनी पुरानी जगह बनाने में जुटे हैं.खबर के मुताबिक आरसीपी सिंह इस रैली को सफल बनाने और जेडीयू को बड़ी पार्टी बनाने में पूरी ताकत झोंक दी है. सड़क से लेकर भीड़ मैनेजमेंट पर भी आरसीपी सिंह काम कर रहे हैं. कहने वाले तो यहां तक कह रहे हैं कि आरसीपी सिंह भीड़ के मैनेजमेंट को मैनज कर पार्टी में फिर से अपनी पुरानी हैसियत को पाने मे लगे हैं. लेकिन देखने वाली बात यह होगी इस रैली के बाद जेडीयू के दो बड़े नेताओं के बीच चल रही रस्साकशी क्या रंग लाती है.

Find Us on Facebook

Trending News