बिहार में 209 करोड़ की लागत से बने स्वास्थ्य भवनों का शीघ्र होगा लोकार्पण : स्वास्थ्य मंत्री

बिहार में 209 करोड़ की लागत से बने स्वास्थ्य भवनों का शीघ्र होगा लोकार्पण : स्वास्थ्य मंत्री

PATNA : बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार की कड़ी को और मजबूत करने के लिए आने वाले दिनों में लगभग 209 करोड़ रूपये का तोहफा बिहारवासियों को मिलेगा। इस राशि से सूबे के 15  जिलों में अस्पताल सहित सेवाओं के विभिन्न घटकों के भवन बनकर तैयार हैं, जिसका शीघ्र ही लोकार्पण किया जायेगा। 

 पांडेय ने आज बताया कि आत्मनिर्भर बिहार को मजबूत आधार प्रदान करने में इन भवनों की काफी उपयोगिता साबित होगी। राज्य के गया, पूर्वी चंपारण, सुपौल, लखीसराय, मधुबनी, जहानाबाद, शेखपुरा, मधेपुरा, मुंगेर, बेगूसराय, औरंगाबाद, भोजपुर, सीतामढ़ी, पूर्णिया और पटना में विभिन्न विधाओं के प्रशिक्षणार्थियों, अस्पतालों व छात्रों के लिए भव्य भवन बनाये गये हैं। ओक्सिलरी नर्स मिडवायफर (एएनएम) के लिए शेरघाटी, मधेपुरा और हवेली खड़गपुर (मुंगेर) में 18.90 करोड़ रूपये की लागत से प्रशिक्षण संस्थान सह 65-65 बेड का छात्रावास बनकर तैयार है। इसी प्रकार पूर्वी चंपारण, गया, सुपौल और लखीसराय में जेनरल नर्सिंग एंड मिडवायफरी (जीएनएम) ट्रेनिंग सेंटर व 63.33 करोड़ की लागत से डेढ़-डेढ़ सौ बिस्तरे का छात्रावास बन चुका है। 

 पांडेय ने कहा कि इसी प्रकार पटना और गया में एक-एक सौ बेड का मातृ-शिशु अस्पताल का निर्माण कराया गया है, जिसे शीघ्र ही जनता को सौंपा जायेगा। नवनिर्मित भवनों की विस्तार से जानकारी देते हुए पांडेय ने बताया कि अनुग्रह नारायण मेडिकल काॅलेज अस्पताल (गया) में 26.49 करोड़ की लागत से बीएससी नर्सिंग काॅलेज सह 65 बेड का छात्रावास, मोतिहारी सदर अस्पताल में 23.33 करोड़ की लागत से जीएनएम एवं पारा मेडिकल शिक्षण संस्थान सह छात्रावास, गया के एएनएमसीएचमें 13.30 करोड़ के व्यय से जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर सह छात्रावास, सुपौल जिले के सुखपुर में 13.35 करोड़ के व्यय से जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर सह छात्रावास और लाखीसराय के नूनगढ़ में 13.35 करोड़ की लागत से वैसा ही सेंटर व छात्रावास बनकर तैयार है। 


 उन्होंने बताया कि मधुबनी के राघोपुर बलात, जहानाबाद के घोसी रेफरल अस्पताल, सुपौल और शेखुपरा जिला के मखदुमपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में लगभग 10-10 करोड़ रूपये की लागत से पारा मेडिकल प्रशिक्षण संस्थान सह छात्रावास का निर्माण कराया गया है। इसी प्रकार गया जिले के शेरघाटी, मधेपुरा के उदाकिशुनगंज और मुंगेर जिले के हवेली खड़गपुर साढ़े छह-छह करोड़ रूपये के व्यय से एएनएम प्रशिक्षण संस्थान सह छात्रावास, बेगूसराय जिले के तेघड़ा में 13.05 करोड़ के व्यय से अनुमंडलीय अस्पताल, नालंदा मेडिकल काॅलेज अस्पताल(पटना) में 13.64 करोड़ के व्यय से एक सौ बेड का मातृ-शिशु  अस्पताल और एएनएमसीएच (गया) में इतने ही बिस्तरे वाले स्तर के अस्पताल के निर्माण पर 13.25 करोड़ की लागत आयी है। पटना स्थित राजकीय फार्मेसी संस्थान में बी और डी फार्मा के छात्रों के लिए 18.44 करोड़ की लागत से 300 बेड का छात्रावास बनकर तैयार है। पांडेय ने बताया के पूर्णिया और मोतिहारी स्थित जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर में आरटी-पीसीआर लैब की एक-एक करोड़ की लागत से स्थापना की गई है।

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News