मोकामा और गोपालगंज में चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन, तेजस्वी, चिराग, निरहुआ संभालेंगे मोर्चा

मोकामा और गोपालगंज में चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन, तेजस्वी, चिराग, निरहुआ संभालेंगे मोर्चा

PATNA : पटना के मोकामा विधानसभा उपचुनाव को लेकर प्रशासनिक तैयारियां पूरी कर ली गई है। 24 घंटे बाद यानी मंगलवार (1 नवंबर ) की शाम चुनाव प्रचार हम जाएगी। इसके बाद न तो कोई सभा की जा सकती है और न ही जुलूस निकाला जा सकता है। आखिरी दिन डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव दोनों जगहों पर आरजेडी प्रत्याशियों के रैली करेंगे। इस दौरान जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह, उपेंद्र कुशवाहा समेत महागठबंधन के अन्य नेता भी मौजूद रहेंगे। वहीं बीजेपी भी आज आखिरी दिन मतदाताओं को रिझाने के लिए पूरा जोर लगाएगी। जहां भाजपा प्रत्याशी के लिए चिराग पासवान आज गोपालगंज में रोड शो कर सकते हैं। वहीं मोकामा में भी बीजेपी के सारे दिग्गज आज नजर आ सकतेहैं। इसके बाद प्रत्याशी डोर टू डोर घूमकर लोगों से जनसंपर्क कर सकेंगे।

नीतीश कुमार ने जारी किया वीडियो

 मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रचार के लिए नहीं जा रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मोकामा व गोपालगंज विधानसभा के लिए हो रहे उप चुनाव के लिए महागठबंधन प्रत्याशी के समर्थन में वीडियो के माध्यम से अपील की है।  उन्होंने यह बताया कि उन्हें उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के साथ चुनाव प्रचार में जाना था पर स्वास्थ्य कारणों से नहीं जा सके। अपील वाले वीडियो में मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार पर हमलावर होते हुए कहा कि विकास की बात नहीं हो इसलिए केंद्र की सरकार अपना प्रचार करती रहती है। इस बात को लेकर सतर्क रहना है। हमलोगों ने बिहार के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग की पर अभी तक वह नहीं मिला। बिहार सहित अन्य पिछड़े राज्यों पर केंद्र सरकार का ध्यान नहीं।  

निरहुआ सहित कई दिग्गज पहुंचे पटना

बताया जा रहा है कि बीजेपी उम्मीदवार के लिए प्रचार करने भोजपुरी एक्टर व सांसद दिनेश यादव निरहुआ भी पटना पहुंच गए हैं और माना जा रहा है कि वह गोपालगंज में चुनाव प्रचार के लिए जा सकते हैं। वहीं AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी भी बिहार पहुंच रहे हैं। वह गोपालगंज में अपनी पार्टी के प्रत्याशी के चुनाव प्रचार के लिए जा सकते हैं। वहीं सुशील मोदी मोकामा में रोड शो कर सकते हैं।

सुरक्षा के कड़े प्रबंध

  चुनाव आयोग ने मोकामा उपचुनाव को लेकर पूरी तरह मुस्तैद है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने 14 अर्धसैनिक बलों के कंपनियों को पटना जिला में उपलब्ध कराया है जो लगातार चुनाव से संबंधित इलाकों पर गति एवं छापेमारी कर कड़ी निगरानी रखेंगे। इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण माना जाने वाला मोकामा टाल क्षेत्र हमेशा सुर्खियों में रहा है। इस को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग और जिला प्रशासन ने भी इन क्षेत्रों में कड़ी नजरें जमा रखी है। मोकामा के टाल क्षेत्रों में चार यूनिट अश्वरोधी दस्ता को लगाया गया है। यह सभी दस्ता ताल क्षेत्रों के सभी बूथों पर घूम घूम कर गस्ती करेंगे। 

इसके अलावा जिला प्रशासन ने उन जगहों पर जहां पानी ज्यादा मात्रा में है और मिट्टी दलदल की व्यवस्था है वहां पर जिला प्रशासन ने सरकारी नाव और ट्रैक्टर से पेट्रोलिंग करने की व्यवस्था की है। जिला प्रशासन के यह मानना है कि चुनाव किसी व्यक्ति के द्वारा प्रभावित नहीं हो इसके लिए प्रशासन ने पूरी व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त कर दिया है


Find Us on Facebook

Trending News