कानून की शरण में मोहब्बत: प्यार की राह में घरवाले बने रोड़ा तो हुए फरार, 2 दिनों बाद थाने में हुई शादी, बाराती बने ग्रामीण और पुलिस

कानून की शरण में मोहब्बत: प्यार की राह में घरवाले बने रोड़ा तो हुए फरार, 2 दिनों बाद थाने में हुई शादी, बाराती बने ग्रामीण और पुलिस

BUXAR: जिले के कोरान सराय थाने में शनिवार को एक अनोखी शादी देखने को मिली। एक प्रेमी जोड़ा, जो लगभग चार वर्षों से एक-दूसरे को जानते थे, वह शादी की नीयत से घर से फरार हो गए। दोनों के घर छोड़कर भागने की खबर आग़ की तरफ फैलते ही दोनों के परिजन भी अपने स्तर से पता लगाने में जुट गए। 

मामले में ट्विस्ट तब आय़ा, जब 2 दिनों बाद प्रेमी युगल खलवा ईनार गांव में मिल गए। जिसके बाद मामला थाने तक जा पहुंचा। वहीं कोरान सराय थाना अध्यक्ष जुनैद आलम ने प्रेमी जोड़े के परिजनों को भी बुलाया और फिर उनकी सहमति से थाने में ही दोनों की शादी करा दी गई।

4 सालों के मोहब्बत को मिली मंजिल

दूल्हा बने शिवजी सिंह ने बताया कि दोनों एक दूसरे से पिछले 4 सालों से प्यार करते थे। परिजनों के विरोध के कारण़ हमें शादी करने के लिए घर से भागना पड़ा। थाने में हुई शादी के बाद दूल्हे राजा अब काफी खुश हैं। अपनी मनपसंद दुल्हन पाकर एक तरफ जहां पति शिवजी सिंह खुश है। वहीं अपने प्रेमी को पाकर दुल्हन भी काफी खुश थी। उसने बताया कि दो दिन पहले हम घर से निकले थे, जहां थानेदार की पहल पर हमारी शादी हुई और हम खुश हैं। घरवाले अभी नाराज हैं। हम उन्हें मना लेंगे।

थानाध्यक्ष ने की अंतर्जातीय विवाह की पहल

कोरान सराय थाने में दोनों प्रेमी को लाने के बाद दोनों के परिजनों को भी थानाध्यक्ष जुनैद आलम द्वारा इस अनोखी शादी के लिए पहल करते हुए परिजनों के साथ-साथ आसपास के लोग भी शामिल हुए। दुल्हा-दुल्हन को आशीर्वाद देकर उनके वैवाहिक सुखद जीवन के लिए आशीर्वाद दिया। यही नहीं, संयोगवश पहुंचे पंडितजी ने भी इन दोनों की शादी कराई। पंडित बने शिवजी उपाध्याय ने बताया कि मेरे जीवन की यह पहली ऐसी शादी है। जिसे मैंने थाने में संपन्न कराया है। ऐसी शादी करा कर हम भी खुश हैं। अपना आशीर्वाद देकर नवदंपति को उन्होंने भी खुशहाल रहने का आशीर्वाद दिया।

अनोखी शादी के गवाह बने कई लोग

जैसे ही इस अनोखी शादी के बारे में पता लगा तो लोग कोरान सराय थाने के शिव मंदिर में इस शादी को देखने के लिए पहुंचने वालों में वर वधु के गांव के ही रिटायर्ड इंस्पेक्टर जनार्दन सिंह भी पहुंच गए। जब इस मामले पर उनसे पूछा गया तो उन्होंने बताया कि इस तरह की शादी काफी अच्छी और सराहनीय है। क्योंकि अंतरजातीय विवाह होने से लोगों के मन से जात पात का मन का क्लेश खत्म होगा। साथ ही बताया कि थाने में हुई इस शादी के बाद अब किसी को कोई परेशानी नहीं है। क्योंकि पहले परिजनों को इनके प्रेम प्रसंग को लेकर विरोध के बाद अब जब थाने में इस तरह शादी होने के बाद अब सभी लोग खुश हैं।

Find Us on Facebook

Trending News