नीलेश मुखिया के नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर निकाला गया कैंडिल मार्च, पुलिस पर सुस्ती का आरोप

नीलेश मुखिया के नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर निकाला गया कैंडिल मार्च,  पुलिस पर सुस्ती का आरोप

पटना- पार्षद पति नीलेश मुखिया हत्या मामले को लेकर दीघा 22 B की पार्षद सुचित्रा सिंह और उनके हजारों समर्थकों ने शुक्रवार को प्रशासन और सरकार पर नामजद आरोपियों को बचाने का आरोप लगाते हुए कैंडल मार्च निकाला.. इस मौके पर मृतक मुखिया के इंसाफ और न्याय की मांग को लेकर महिलाओं और पुरुषों ने दीघा पार्षद पति के आवास से कुर्जी स्थित कार्यालय तक हाथों में कैंडल और नामजद आरोपियो की गिरफ्तारी की मांग के तख्ती को हाथो में लेकर समर्थक नजर आए .

परिजनों ने कहना था कि  यूपी में यदि ऐसा होता तो आरोपियों के घर पर बुलडोजर चल जाता ,दरअसल नामजद आरोपी पप्पू राय, धप्पू राय और गोरख राय नामजद अबतक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. घटना को एक महीना का वक्त बीत गया है,वही पुलिस इस मामले में एक  लाइनर ,एक शूटर को गिरफ्तार कर अपना पीठ थप थपा रही है.

बता दें बीते 31 जुलाई को पार्षद पति सह बीजेपी नेता नीलेश मुखिया को अपराधियों ने ताबड़तोड़ 7 गालियां मार घायल किया था,जिनका पटना सहित दिल्ली के एम्स में लगभग 23 दिनों तक इलाज चला .उसके बाद उन्होंने अंतिम सांस ली थी  

पटना एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया है कि कोई भी अपराधी बच नहीं सकेगा. उन्होंने बताया कि इस मामले के नामजद आरोपियों को आत्मसमर्पण करने को लेकर पटना पुलिस ने न्यायालय से कुर्की जब्ती का वारंट लिया है, यदि आरोपी समर्पण नही करते उनके घरों पर कुर्की जब्ती की कर्रवाई की जाएगी

Find Us on Facebook

Trending News