रांची में हिंसक झड़प के अगले दिन भी स्थिति तनावपूर्ण, इंटरनेट सेवा ठप, प्रभावित इलाके सील, पूरे शहर में अघोषित बंद

रांची में हिंसक झड़प के अगले दिन भी स्थिति तनावपूर्ण, इंटरनेट सेवा ठप, प्रभावित इलाके सील, पूरे शहर में अघोषित बंद

रांची. जुम्मे की नमाज के रांची के शुक्रवार को हुई हिंसक झड़प के अगले दिन शनिवार को भी कई इलाकों में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है. शहर के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा बाधित है जबकि हिंसाग्रस्त क्षेत्रों के बाजारों सन्नाटा पसरा. एक प्रकार से रांची के अधिकांश हिस्सों में अघोषित बंद से नजारा है. 

वहीं, हिंसक विरोध प्रदर्शन के बीच रांची में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 घायल हो गए. दरअसल, भाजपा की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा और पार्टी से निष्कासित नेता नवीन जिंदल द्वारा की गई विवादास्पद टिप्पणी के खिलाफ जुम्मे की नवाज के बाद मुस्लिमों के एक वर्ग द्वारा हिंसक प्रदर्शन किया गया है. करीब तीन घंटे तक चली हिंसा के बीच रांची के कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

नूपुर शर्मा के बयान का विरोध करने के बाद लोग एक मस्जिद में जुमे की नमाज पढ़कर सड़कों पर उतर आए. गुस्साई भीड़ को रोकने के लिए पुलिस ने कई राउंड गोलियां चलाईं और प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया. दोपहर 2 से 5 बजे तक बिगड़ते हालात को काबू करने में पुलिस के प्रयास विफल रहे तो जिला प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया. शहर में स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है. मेन रोड, कर्बला चौक और डोरंडा पर स्थिति को नियंत्रित करने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स और बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है. नूपुर शर्मा की टिप्पणी पर हंगामे के चलते शुक्रवार दोपहर से मेन रोड पर करीब तीन किलोमीटर के दायरे में सभी दुकानें बंद रहीं. रांची के डोरंडा इलाके में भी बड़ा विरोध प्रदर्शन किया गया.

रांची के मेन रोड में हुई घटना को देखते हुए गृह विभाग के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का ने सभी तरह के इंटरनेट सेवा पर अस्थायी रोक लगा दी है. शुक्रवार की शाम सात बजे से शनिवार की सुबह छह बजे तक यह रोक लगायी गयी है. इस संबंध में गृह विभाग ने आदेश जारी करते हुए कहा कि अफवाह फैलाकर माहौल नहीं बिगड़े, इसको देखते हुए सभी तरह के इंटरनेट सेवा पर अस्थायी तौर पर रोक लगा दिया गया है.


Find Us on Facebook

Trending News