नीतीश राज में जहरीली शराब से मर रहे लोग, लेकिन ताड़ी उतारने वाले पासी भेजे जा रहे जेल... पासी समाज को मिला चिराग का साथ

नीतीश राज में जहरीली शराब से मर रहे लोग, लेकिन ताड़ी उतारने वाले पासी भेजे जा रहे जेल... पासी समाज को मिला चिराग का साथ

पटना. पासी समाज के लोगों ने शुक्रवार को पटना में लबनी के साथ प्रदर्शन किया. उन्होंने नीतीश सरकार पर ताड़ी के परम्परागत व्यवसाय से जुड़े लोगों को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया. ताड़ी पर प्रतिबंध हटाने की मांग को लेकर पासी समाज द्वारा विधानसभा मार्च के दौरान पुलिस द्वारा बर्बरता पूर्ण पुलिसिया कार्रवाई के विरोध को लोजपा (रामविलास) ने समर्थन किया. लोजपा सुप्रीमो और सांसद चिराग पासवान ने इसे लेकर सीएम नीतीश पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों के लिए सीएम नीतीश असंवेदनशील हैं.

चिराग ने आरोप लगाया कि अपनी सुविधा और फायदे के लिए सीएम नीतीश पाला बदलते हैं. नीतीश कुमार पासी जाति से भेदभाव करते हैं. नीतीश की शराबबंदी के कारण राज्य में धर्रले से बिक रही ज़हरीली शराब से लोग मर रहे हैं. लेकिन, नीतीश की सरकार गरीब पासी समाज को जेल भिजवाते हैं. राज्य के अधिकारी जानते हैं की कैसे शराब का धंधा होता है. इसके बाद भी कार्रवाई पासी समाज पर किया जा रहा है. 

उन्होंने कहा कि ताड़ी उतरना पासी समाज का पुश्तैनी पेशा है. यह जानते हुए भी पासी समाज को प्रताड़ित किया जा रहा है. अपने रोजगार के हक में आवाज उठाने वाले पासी समाज पर नीतीश की पुलिस लाठी बरसती है. पासी समाज के संघर्ष को लोजपा (रामविलास) का समर्थन रहने की बात करते हुए चिराग ने पुलिसिया कार्रवाई की निंदा की. 

नीतीश कुमार को स्टूडेंट, बेरोजगार, और गरीबों पर लाठी चलवाने वाली सरकार बताया. उन्होंने कहा कि लोग जिएं या मरें नीतीश कुमार को कोई मतलब नहीं है. नीतीश अपनी इसी जन विरोधी कार्यशैली के कारण तीन नंबर की पार्टी बने हुए हैं. 


Find Us on Facebook

Trending News