कृषि कानून की वापसी पर जन अधिकार पार्टी ने मनाया जश्न,कहा - किसानों की हुई जीत

कृषि कानून की वापसी पर जन अधिकार पार्टी ने मनाया जश्न,कहा - किसानों की हुई जीत

PATNA : केंद्र सरकार द्वारा काले कृषि कानून की वापसी पर जन अधिकार पार्टी ने आज पटना के डाक बंगला चौराहे पर जश्न मनाते हुए इसे किसानों के संघर्ष की जीत बताया। साथ ही 700 किसानों के बलिदान को लेकर जाप नेताओं ने पीएम मोदी की गलत नीति पर उनके चेहरे पर कालिख पोती। इस मौके पर जाप युवा नेता राजू दानवीर ने कहा कि कोई भी बलिदान कभी व्यर्थ नही जाता है। सरकारे झुकती है। घमण्ड टूटता है। लेकिन बलिदानों का मोल माफी मांगकर नहीं चुकाया जा सकता है। किसान आन्दोलन भारतीय इतिहास में सदैव मिसाल बनकर रहेगा। 

दानवीर ने कहा कि मोदी सरकार के काले कानून के खिलाफ जाप ने राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव के नेतृत्व में बिहार से दिल्ली तक संघर्ष किया। इसमे जन अधिकार युवा परिषद के साथियों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन में हमारे 700 किसान अपनी जान की जो कुर्बानी दी है। इस काला कानून के खिलाफ में हम सरकार से मांग करेंगे। इन सभी शहीद किसान परिवार को एक सरकारी नौकरी और कम से कम दो करोड़ रुपया सहयोग राशि दिया जाए। उसके साथ साथ उन किसान भाइयों को शहीद का दर्जा दिया।

इतना ही नहीं, जाप नेता ने आगे कहा कि यह किसानों की जीत है, यह देश की जीत है, यह सच में लोकतंत्र की जीत है। किसान आंदोलन में शहीद सभी किसान भाइयों को मेरा शत-शत नमन। देश और लोकतंत्र को बचाने के लिए उनका यह बलिदान सदैव याद रखा जायेगा l


पटना से रंजन की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News