'राहुल गांधी के बाद कन्हैया कुमार सबसे ज्यादा लोकप्रिय', बिहार कांग्रेस नेताओं के सामने ही राहुल के खास ने कह दी बड़ी बात

'राहुल गांधी के बाद कन्हैया कुमार सबसे ज्यादा लोकप्रिय', बिहार कांग्रेस नेताओं के सामने ही राहुल के खास ने कह दी बड़ी बात

पटना. कांग्रेस नेता राहुल गांधी कन्याकुमारी से श्रीनगर तक भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं। यह यात्रा तमिलनाडु से शुरू होकर अब महाराष्ट्र पहुंच चुकी है। इस राहुल की यह यात्रा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना से होकर गुजर चुकी है और महाराष्ट्र में हैं। इस बीच इस यात्रा को लेकर पटना में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और जयराम रमेश ने पटना में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने जयराम रमेश ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा में राहुल गांधी के बाद बिहार कन्हैया कुमार सबसे ज्यादा लोकप्रिय है और उन्हें सुनने के लिए लोग आते हैं।

भारत जोड़ो यात्रा को लेकर सदाकत आश्रम में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी जयराम रमेश ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा की अगली कड़ी के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना से होकर गुजर चुकी है और महाराष्ट्र में हैं। आने वाले दिनों में बिहार में भी भारत जोडो यात्रा निकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि इस यात्रा में राहुल गांधी के साथ 120 कांग्रेसी नेता शामिल है। इसमें बिहार के कन्हैया कुमार समेत पांच कांग्रेसी शामिल है। इसमें राहुल गांधी के बाद सबसे ज्यादा लोकप्रिय कन्हैया कुमार है। मीडिया और आम लोगों में उनकी बहुत ज्यादा डिमांड है। उन्हें सुनने के लिए लोग इस यात्रा में आते हैं। इस दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस में बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्तचरण दास, मदन मोहन झा और कांग्रेस विधायक अजीत शर्मा समेत कई नेता शामिल थे।

पीएम मोदी पर भी इस यात्रा का असर

मीडिया को संबोधित करते हुए जयराम रमेश ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा चुनाव जीतने की यात्रा नहीं है। यहा कांग्रेस संगठन को मजबूत करने की यात्रा है और समाज में सदभाव और भाईचार लाने की यात्रा है। इस दौरान जयराम रमेश ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा की शुरुआत काफी अच्छी रही है । लोगों को सकारात्मक संदेश मिल रहा है। भारत जोड़ो यात्रा का असर दिखने लगा है। इसका नतीजा है कि प्रधानमंत्री चुनावी राज्य को छोड़कर दक्षिण के राज्यों में सभा कर रहे हैं। मोदी सरकार के नियत और नीतियों के कारण भारत टूट रहा है। समाज का विभाजन भाजपा के द्वारा किया जा रहा है, जबकि कांग्रेस एकता चाहती है।

मोहन भागवत ने भी की तारीफ

उन्होंने कहा कि तीन चुनौतियों को देखते हुए भारत यात्रा की शुरुआत की गई। राहुल गांधी की यात्रा में सभी धर्मों के लोग और कई संस्थाएं शामिल हो रहे हैं। साथ ही आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, योग गुरु बाबा रामदेव, दत्तात्रेय होसबोले और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुमित्रा महाजन भी तारीफ कर चुकी है। उन्होंने कहा कि यह चुनावी यात्रा नहीं है। यह भारत को जोड़ने का यात्रा है।

बिहार में भी भारत जोड़ो यात्रा

उन्होंने कहा कि मुख्य यात्रा 28 दिसंबर बिहार के बांका से बोधगया के लिए निकलेगा। यात्रा की दूरी 1200 किलोमीटर होगी। यह यात्रा 17 जिलों से गुजरेगा। छूटे 21 जिलों में अलग से भारत जोड़ो यात्रा होगी, जिसमें कांग्रेस के कार्यकर्ता शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि आज मोदी सरकार के दौरान आर्थिक विषमता, सामाजिक धुर्वीकरण बढ़ गया है। सरकार तानाशाही हो गयी है। इसके खिलाफ कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा हो रही है। उन्होंने कहा कि इस यात्रा में बिहार के कई मुद्दे को भी उठाया जाएगा।


Find Us on Facebook

Trending News