नीतीश कुमार की विपक्षी एकता को केजरीवाल ने दिखाया ठेंगा, कहा - बीजेपी को हराने का ठेका आपने कैसे ले लिया

नीतीश कुमार की विपक्षी एकता को केजरीवाल ने दिखाया ठेंगा, कहा - बीजेपी को हराने का ठेका आपने कैसे ले लिया

PATNA :  एक तरफ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आगामी लोकसभा चुनाव से पहले विपक्षी एकता को साथ लाने की कोशिश में जुटे हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ जिन बड़ी क्षेत्रीय पार्टियों को वह अपने साथ लाने की कोशिश में लगे हुए थे. वही उनका साथ छोड़कर जा रहे हैं। पहले तेलंगाना के सीएम केसीआर ने अलग राष्ट्रीय पार्टी बनाने की घोषणा की। अब उनकी राह पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी चलते हुए नीतीश कुमार से किनारा करने का संकेत दिया है। 

दिल्ली में चल रहे एक अखबार के समिट में शामिल हुए केजरीवाल ने सीएम अरविंद केजरीवाल ने विपक्षी एकता को लेकर बड़ा बयान दे दिया है। केजरीवाल ने कहा कि यह काम नहीं करने वाला है। उन्होंने कहा कि लोग विपक्षी एकता नहीं, उम्मीद चाहते हैं। विपक्षी एकता का क्या मतलब है, सारे विपक्षी मिलकर आओ बीजेपी को हराते हैं। 

केजरीवाल ने आगे कहा कि बीजेपी को हराने का ठेका आपने कैसे ले लिया। हम तो जनतंत्र में रहते हैं। यह काम जनता पर छोड़ देना चाहिए। बीजेपी को हराना होगा तो देश की जनता हरा देगी। उन्होंने कहा कि आपको जनता को जाकर यह बताना है कि हमें वोट दो, हम आपकी जिंदगी इस तरह बदल देंगे। उन्होंने कहा कि जनता के सामने रोडमैप रखना चाहिए, एजेंडा देना चाहिए कि किस तरह उनकी जिंदगी बदली जा सकती है, आइडिया पसंद आया तो जनता बीजेपी को हटा देगी। 

बता दें कि शुक्रवार को बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने दावा करते हुए कहा कि नीतीश कुमार का न बिहार के बाहर कहीं प्रभाव है और न राज्य के भीतर वे अपना जनाधार बचा पाये, इसलिए विपक्षी एकता की उनकी मुहिम फ्लॉप कर गई। डेढ़ महीने में न कोई प्रमुख विपक्षी नेता उनसे मिलने आया, न वे किसी से मिलने गए।

Find Us on Facebook

Trending News