मोइन-उल-हक स्टेडियम की सूरत बदलेंगे गौतम गंभीर, बिहार सरकार के इस मंत्री ने मांगा सुझाव

मोइन-उल-हक स्टेडियम की सूरत बदलेंगे गौतम गंभीर, बिहार सरकार के इस मंत्री ने मांगा सुझाव

पटना। कई सालों से दुर्दशा का शिकार पटना के मोइन-उल-हक स्टेडियम की सूरत बदलने की कवायद शुरू हो गई है। जिसमें पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और सांसद गौतम गंभीर से मदद मांगी गई है। इस संबंध में गुरुवार को बिहार के कला संस्कृति मंत्री मंगल पांडेय ने उनसे मुलाकात कर स्टेडियम में सुधार को लेकर जरुरी सुझाव मांगे है। इस दौरान उनके साथ कई एक्सपर्ट भी मौजूद थे।  विभाग की तरफ से कहा गया है कि मोइन उल हक स्टेडियम में फिर से अंतरराष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम के रूप में विकसित किया जाना है।

कभी देश के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में शुमार रहे मोइन उल हक दो दशक से भी ज्यादा समय से दुर्दशा का दंश झेल रहा है। स्टेडियम में उपलब्ध सुविधाएं पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी हैं। वहीं स्टेडियम के चारों तरफ अतिक्रमण भी हो चुका है। सालों तक स्टेडियम राज्य की राजनीति का शिकार होता रहा है। वहीं स्टेडियम में सीआरपीएफ का कैंप भी होने से स्टेडियम को नुकसान उठाना पड़ा है। बिहार को क्रिकेट की मान्यता नहीं होने के कारण भी स्टेडियम के विकास पर ध्यान नहीं दिया गया। अब जब बिहार में राष्ट्रीय क्रिकेट को मान्यता मिल चुकी है, ऐसे में एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के स्टेडियम की जरुरत महसूस की जा रही थी।

गौतम गंभीर से मांगी गई मदद

बताया गया कि कुछ माह पहले गौतम गंभीर ने पटना दौरे के दौरान बिहार के क्रिकेट में विकास को लेकर मूलभूत सुविधाएं बेहतर करने की बात कही थी, जिसमें बेहतर स्टेडियम की जरुरत को उन्होंने प्रमुखता दी थी। अब इस संबंध में बिहार के युवा एवं संस्कृति मंत्री मंगल पांडेय ने उनसे मुलाकात की है। मुलाकात के दौरान उन्होंने स्टेडियम के नक्शे को भी दिखाया है, जिसके आधार पर स्टेडियम में सुधार संबंधी जरुरी सुझाव मिल सके। गौतम गंभीर ने भी स्टेडियम के विकास को लेकर अपनी दिलचस्पी दिखाई है।


Find Us on Facebook

Trending News