मानसूनी बारिश शुरू होने से पहले पटना कमिश्नर ने संप हाउस एवं नालों का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिया आवश्यक निर्देश

मानसूनी बारिश शुरू होने से पहले पटना कमिश्नर ने संप हाउस एवं नालों का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिया आवश्यक निर्देश

पटना. कमिश्नर कुमार रवि ने शहर के विभिन्न सम्प हाउसों एवं नालों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि शहर में जल-निकासी की सुगम, सुचारू एवं सुदृढ़ व्यवस्था है। अतिवृष्टि की स्थिति में आम जनता को कोई समस्या नहीं होगी। उन्होंने कहा कि मौसम विभाग द्वारा दी गई सूचना के अनुसार हमारे राज्य में मानसून का दस्तक हो चुका है। आने वाले दिनों में बिहार के सभी जिलों में बारिश की संभावना है। कई राज्यों में अतिवृष्टि की चेतावनी जारी की गई है। उन्होंने कहा कि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सम्पूर्ण प्रशासनिक तंत्र सजग, सक्रिय एवं तत्पर है।

आयुक्त रवि ने कहा कि निर्धारित मानकों के अनुसार प्रशासन द्वारा सारी तैयारी कर ली गई है। बड़े नालों एवं आनुषंगिक नालों की साफ-सफाई का कार्य पूर्ण हो चुका है। सभी सम्प हाउस में पर्याप्त संख्या में डीजल एवं बिजली संचालित पम्प, डीजी सेट इत्यादि की व्यवस्था कर ली गई है। विशेष परिस्थिति से निपटने हेतु प्रशासन द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था भी की गई है। कार्यकारी एजेंसियों को तत्पर एवं सक्रिय रहने का निदेश दिया गया है। जल-जमाव के त्वरित निपटारे के लिए पटना नगर निगम मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। साथ ही हेल्प लाईन नम्बर एवं टॉल-फ्री नम्बर भी जारी किया गया है। ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन और सम्प हाउस से संबंधित सूचना देने के लिए बुडको द्वारा भी टॉल-फ्री नम्बर जारी किया गया है। प्रशासन द्वारा क्विक रिसपॉन्स टीम का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि आम जनता को परेशान होने की कोई आवश्यकता नहीं है।

विदित हो कि आज आयुक्त रवि द्वारा लगभग छः घण्टे तक शहर के विभिन्न सम्प हाउस एवं नालों का निरीक्षण किया गया। उन्होंने ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन पर पालीवार प्रतिनियुक्त पम्प चालकों एवं सफाई कर्मियों की सूची, महत्वपूर्ण जनोपयोगी दूरभाष संख्या का प्रदर्शन, कुल पम्पों की संख्या, पम्प का प्रकार (इलेक्ट्रिक एवं डीजल), मोटर/ईंजन की क्षमता, कैचमेन्ट एरिया, डिस्चार्ज क्षमता, ट्रान्सफॉर्मर, डीजल जेनरेटर, इन्लेट-आउटलेट, कर्मियों के लिए कक्षों एवं पेयजल की उपलब्धता, आउट फॉल, विद्युत स्रोत, डीजी सेट का संचालन सहित ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन के विधिवत संचालन की सभी मानकों पर एक-एक कर विस्तृत निरीक्षण किया।

सबसे पहले उन्होंने 10.00 बजे पूर्वाह्न से बुडको द्वारा संचालित ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन, राजवंशीनगर का निरीक्षण किया तथा इसका संचालन देखा। इसके कैचमेन्ट एरिया एवं आउट फॉल के बारे में जानकारी ली। इसका कैचमेन्ट एरिया राजवंशीनगर आवासीय कॉलोनी, बेली रोड शेखपुरा मोड़ से राजवंशीनगर मोड़ तक है तथा आउट फॉल बोरिंग कैनाल रोड, ट्रन्क ड्रेन है। उन्होंने पानी का फ्लो देखा तथा ऑपरेटर से वार्ता की। इसके बाद उन्होंने मोहनपुर-पुनाईचक नाला का निरीक्षण किया एवं उड़ाही कार्य का जायजा लिया। नाला में कितनी गहराई तक सिल्ट निकाला गया है, इसकी जाँच की। इसके बाद वे इंदिरा भवन गये तथा पानी के आउटलेट की जाँच की। इसके बाद उन्होंने सर्कुलर रोड-विकास भवन के समीप निर्मित हो रहे नाला तथा बिहार विधान सभा परिसर के सम्पहाउस का निरीक्षण किया।

उन्होंने राजधानी वाटिका (इको पार्क) स्थित तीनों सम्प हाउस का निरीक्षण किया। पटेल गोलम्बर से ईको पार्क सर्पेन्टाईन नाला में जल प्रवाह का निरीक्षण किया। पटेल गोलम्बर सम्प हाउस का निरीक्षण करने के बाद आयुक्त रवि ने दिनकर गोलम्बर के नजदीक आरके एवेन्यु ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन का निरीक्षण किया। उसके बाद उन्होंने आर्य कुमार रोड में बन रहे नाला, सैदपुर सम्प हाउस, ड्रेनेज पम्पिंग प्लाट रामपुर तथा अस्थायी सम्प हाउस बकरी बाजार का निरीक्षण किया एवं आवश्यक निर्देश दिया।

आयुक्त रवि ने निर्देश दिया कि सभी कर्मी अपने-अपने पालियों में मुश्तैद रहें, पम्प मोटर संचालन करने के पहले जल स्तर का विशेष ध्यान रखा जाए, सम्प वाटर लेवल को निर्धारित स्तर पर हमेशा बनाये रखें। यदि लेवल बढ़ने लगे तो आवश्यकतानुसार और मोटर पम्पों का संचालन करें, जिससे कि वाटर लेवल निर्धारित स्तर पर सतत बना रहे। आवश्यकतानुसार डीजल ईंजन का प्रयोग करें, ग्रेटिंग का सफाई कार्य अवरूद्ध न हो, कभी भी ग्रेटिंग के पहले वाटर लेवल सम्प के वाटर लेवल से अधिक न हो। आयुक्त रवि ने कहा कि प्लास्टिक बैग, जूट बैग, टायर, ट्यूब एवं अन्य ऐसी सामग्री है, जो पम्प के प्रवाह को तुरत अवरूद्ध करता है। अतः उसे ग्रेटिंग पर रोकना सुनिश्चित करें। यात्रिक मेन्टेनेंश, विद्युत मेन्टेनेंश एवं अन्य प्रकार के मेन्टेनेंश पर निर्धारित दिश-निर्देशों का अनुपालन करें।

आयुक्त रवि ने कहा कि सभी ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन पर 24/7 संचालक उपस्थित रहें। कोई संवादहीनता की स्थिति नहीं होनी चाहिए। सभी स्थायी/अस्थायी सम्प हाउस को मानसून के दौरान 24/7 निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु संबंधित डेडिकेटेड फीडर एवं वैकल्पिक फीडर का रख-रखाव सुनिश्चित करें। इस दौरान अस्थायी सम्प हाउस बकरी बाजार, नजदीक सैदपुर का निरीक्षण करते वक्त पाया गया कि वहां अवस्थित नाला पूरी तरह जाम है। जल का प्रवाह अवरूद्ध है। आयुक्त रवि ने प्रबंध निदेशक, बुडको को बुडको के सहायक अभियंता के विरूद्ध कारण पृच्छा करते हुए कार्रवाई करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कर्तव्य निर्वहन में किसी भी प्रकार की शिथिलता बरदाश्त नहीं की जाएगी।

आयुक्त रवि ने जिलाधिकारी को सम्प हाउसों एवं नालों का नियमित तौर निरीक्षण करने का निदेश दिया, ताकि जल निकासी की सुगम व्यवस्था सुनिश्चित रहे। उन्होंने प्रबंध निदेशक, बुडको को ड्रेनेज पम्पिंग स्टेशन के संचालन पर लगातार नजर रखने को कहा। आयुक्त रवि ने नगर आयुक्त को नालों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान रखने को कहा। आयुक्त रवि ने जल-जमाव के दृष्टिकोण से संवेदनशील स्थानों पर विशेष नजर रखने का निर्देश दिया।

आयुक्त रवि ने कहा कि जल-निकासी की सुगम एवं सुदृढ़ व्यवस्था सुनिश्चित करना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके लिए अन्तर्विभागीय समन्वय एवं सार्थक संचार पर ध्यान देने की आवश्यकता है। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी, पटना डॉ. चन्द्रशेखर सिंह, प्रबंध निदेशक बुडको धर्मेन्द्र सिंह, नगर आयुक्त, पटना नगर निगम अनिमेष कुमार पराशर, आयुक्त के सचिव एसएम कैसर सुलतान, क्षेत्रीय विकास पदाधिकारी सर्व नारायण यादव, उप निदेशक आईपीआरडी लोकेश कुमार झा, कार्यपालक अभियंता बुडको अरविंद किशोर एवं अन्य भी उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News