मकर संक्रांति को लेकर पटना डेयरी प्रोजेक्ट ने की तैयारी, 34 लाख लीटर दूध और 8 किलो दही की बिक्री का रखा लक्ष्य

मकर संक्रांति को लेकर पटना डेयरी प्रोजेक्ट ने की तैयारी, 34 लाख लीटर दूध और 8 किलो दही की बिक्री का रखा लक्ष्य

PATNA : पटना डेयरी प्रोजेक्ट ने मकर सक्रांति की पूरी तैयारी कर ली है। डेयरी के प्रबंधक निदेशक एसएन ठाकुर ने कहा कि इस वर्ष पटना डेयरी प्रोजेक्ट ने मकर सक्रांति के मौके पर 34 लाख लीटर दूध, 8 लाख किलोग्राम दही, 9 हजार किलो तिलकुट और 20 हजार किलो पनीर की बिक्री का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा की राजधानी पटना सहित ग्रामीण इलाकों में भी उड़नदस्ता टीम भ्रमण करेगी। मकर सक्रांति के मौके पर पहले की भांति इस साल भी पटना शहर के विभिन्न स्थानों पर टैंकर लगी रहेगी, जो सुबह से लेकर शाम तक 12 जनवरी और 13 जनवरी उपलब्ध रहेगा। उन्होंने लोगों से भी सहयोग करने की अपील की।

प्रबंध निदेशक ने कहा की सुधा की ओर से 2012 से ही दही खाओ इनाम पाओ प्रतियोगिता का आयोजन मकर सक्रांति के मौके पर किया जाता है। इस साल भी 18 जनवरी को पटना डेहरी प्रोजेक्ट फुलवारी शरीफ पटना के प्रांगण में आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हैदराबाद एवं दिल्ली के प्रतियोगियों द्वारा रजिस्ट्रेशन कराया जाता है। इस प्रतियोगिता के लिए महिला पुरुष एवं वरिष्ठ नागरिक को अलग-अलग श्रेणी में रखा जाता है। कोई भी महिला एवं पुरुष जिनकी उम्र 15 वर्ष से अधिक हो भाग ले सकते हैं।

उन्होंने बताया की प्रतियोगिता में भाग लेने हेतु प्रतिभागी 14 जनवरी से मोबाइल संख्या 6204 381 026 पर अपना नाम पता उम्र एवं रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 17 जनवरी शाम 5:00 बजे तक है। प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए सभी प्रतिभागी को 3 मिनट का समय दिया जाता है। दही की अधिकतम मात्रा खाने वाले को क्रमश: प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी में विजेता घोषित किया जाता है।

गौरतलब है कि यह प्रतियोगिता पहले में पहले से भी बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े ही उत्साह से आयोजित होता आ रहा है। जिसमें दही रसगुल्ला एवं अन्य कई दूध उत्पाद का प्रतियोगिता कर लोगों को खाने पीने में जागरूकता बढ़ाई जाती है। इसे ग्रामीण परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए सुधा पिछले 10 सालों से इस प्रतियोगिता का आयोजन कराती रही है। हर साल प्रतियोगियों की संख्या बढ़ती जा रही है। पटना डेयरी प्रोजेक्ट के प्रबंध निदेशक ने कहा की हम लोग प्रतियोगिता को देखने के लिए उत्सुक रहते हैं। स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए 15 साल से कम उम्र के बच्चों को इस प्रतियोगिता में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाती है। सुधा डेयरी प्रोजेक्ट के प्रबंध निदेशक एसएन ठाकुर ने सभी प्रतिभागियों से अपील किया है कि नए वर्ष में नए जोश के साथ इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए आप सभी आमंत्रित हैं। 

वंदना शर्मा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News