पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम से मचा हाहाकार तो कांग्रेस के नेता हुए रिक्शे पर सवार

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम से मचा हाहाकार तो कांग्रेस के नेता हुए रिक्शे पर सवार

PATNA : कांग्रेस के नेताओं ने शनिवार को पटना में पेट्रोल-डीजल को बढ़ती कीमतों के विरोध में विश्वासघात मार्च निकाला। कांग्रेस के नेताओं ने रिक्शे पर सवार हो कर नरेन्द्र मोदी सरकार की नीतियों के विरोध में ये मार्च निकाला। ये मार्च एयरपोर्ट से शुरू हो कर शेखपुरा मोड़ तक आया। बिहार कांग्रेस के प्रभारी सचिव वीरेन्द्र सिंह राठौर और राजेश जुवौटिया पहली बार पटना पहुंचे। एयर पोर्ट से वे रिक्शे में सवार हुए और उनके साथ बिहार कांग्रेस के नेताओं का हुजूम विश्वासघात मार्च पर निकल पड़ा।

THE-RISING-PRICES-OF-PETROL-AND-DIESEL-THE-CONGRESS-LEADER-RODE-ON-THE-RICKSHAW2.jpg

वीरेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं और आम आदमी परेशान है। किसान परेशान हैं। मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण पेट्रोल- डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। उन्होंने मोदी सरकार से पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग की।

विश्वासघात मार्च में कांग्रेस के प्रभारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी भी  शामिल हुए। विरोध प्रदर्शन में उन्होंने खुद रिक्शा भी चलाया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने 4 साल में जनता को केवल लूटने का काम किया है।

THE-RISING-PRICES-OF-PETROL-AND-DIESEL-THE-CONGRESS-LEADER-RODE-ON-THE-RICKSHAW3.jpg

सरकार ने जनता को छला है। पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, लेकिन सरकार इस पर अंकुश नहीं लगा पा रही है। सस्ते दरों में पेट्रोल डीजल खरीदने के बाद भी सरकार तेल कंपनियों के इशारे पर महंगा बिकवा  रही है। महंगाई की मार जनता बेहाल है और मोदी सरकार जश्न मानने में मशगूल है। विश्वासघात मार्च में कांग्रेस के नेताओं ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के समर्थन में नारे लगाये। कांग्रेस बढ़ती महंगाई को बड़ा राजनीतिक मुद्दा बनाना चाहती है।

Find Us on Facebook

Trending News