TOKYO OLYMPICS: जेवलीन थ्रो में पहले ही प्रयास में फाइनल में पहुंचे नीरज चोपड़ा, मेडल के बने दावेदार

TOKYO OLYMPICS: जेवलीन थ्रो में पहले ही प्रयास में फाइनल में पहुंचे नीरज चोपड़ा, मेडल के बने दावेदार

DESK: टोक्यो ओलंपिक के 12वें दिन की शुरूआत भारत के लिए खुशखबरी लेकर आई। भारत के स्टार एथलीट नीरज चोपड़ा ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया और पहले ही प्रयास में फाइनल में जगह काबिज कर ली। बता दें, नीरज चोपड़ा ने जेवलिन थ्रो के फाइनल में क्वालीफाई कर लिया है। नीरज चोपड़ा ने पहले ही प्रयास में 86.65 मीटर के साथ 83.50 मीटर का क्वॉलिफिकेशन मार्क हासिल कर लिया। अपने पहले ही ओलंपिक में नीरज ने पहले ही प्रयास में जिस तरह का प्रदर्शन किया, इससे उनसे मेडल की उम्‍मीदें और ज्‍यादा बढ़ गई हैं।

स्टार एथलीट ने एकसाथ बनाए दो रिकॉर्ड

नीरज चोपड़ा को यूं ही स्टार एथलीट नहीं कहा जाता। उन्होनें 2018 के एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था। तब उन्होंने 88.06 मीटर दूर भाला फेंका था। ये नेशनल रिकॉर्ड भी है। अब सभी को 7 अगस्त का इंतजार है, जब नीरज फाइनल मुकाबले में खेलेंगे। नीरज को शुरू से ही टोक्यो ओलंपिक में मेडल का दावेदार माना जा रहा था और फाइनल में पहुंचकर उन्होंने भारत के लिए मेडल की उम्मीद भी जगा दी है। अपने पहली ही कोशिश में फाइनल में जगह बनाने वाले नीरज ने एकऔर उपलब्धि हासिल की है। उन्होनें 2017 के वर्ल्ड चैम्पियन जोहानेस वेटर को भी पछाड़ दिया। जर्मनी के जोहानेस वेटर नीरज के बाद दूसरे नंबर पर रहे। जोहानेस ने पहले ही कहा था कि ओलंपिक में नीरज को हराना मुश्किल होगा। 


19 साल की उम्र में बने आर्मी अफसर

हरियाणा के पानीपत जिले के खांद्रा गांव में एक छोटे से किसान के घर पर 24 दिसंबर 1997 को नीरज का जन्म हुआ था। नीरज ने अपनी पढ़ाई चंडीगढ़ से की। नीरज ने 2016 में पोलैंड में हुए IAAF वर्ल्ड U-20 चैम्पियनशिप में 86.48 मीटर दूर भाला फेंककर गोल्ड जीता था, जिसके बाद उन्हें आर्मी में जूनियर कमिशन्ड ऑफिसर के तौर पर नियुक्ति मिली थी। 23 साल के नीरज अंजू बॉबी जॉर्ज के बाद किसी वर्ल्ड लेवल एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतने वाले दूसरे भारतीय हैं।

आज होने वाले अन्य मुकाबले भी अहम 

जेवलीन थ्रो के अलावा अन्य मुकाबलों की बात करें तो कुश्ती में पुरुष फ्रीस्टाइल 57 किग्रा में रवि कुमार ने ऑस्कर टिगरेरोस उरबानो (कोलंबिया) को 13-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं। वहीं दीपक पूनिया ने 86 किग्राम में नाइजीरिया के एकरेकेम एगियोमोर को प्री- क्वार्टर फाइनल में हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए हैं। वहीं महिलाओं के 57 किलोग्राम फ्री स्टाइल में अंशु मलिक को प्री क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा।अंशु को बेलारूस की इरिना कुराचिकिना ने 8-2 से हराया। बुधवार को भारतीय महिला हॉकी और बॉक्सर लवलिना बोरगोहेन से भी काफी उम्मीदें हैं। हॉकी टीम पहले ही सेमीफाइनल में पहुंचकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर चुकी है। वह फाइनल में पहुंचकर इसमें और इजाफा करना चाहेगी।


Find Us on Facebook

Trending News