कटिहार के दियारा में हुए गैंगवार में पीड़ित परिवार को मरहम लगाने के नाम पर राजनेताओं ने शुरू की राजनीति, लगाने लगे एक दूसरे पर आरोप

कटिहार के दियारा में हुए गैंगवार में पीड़ित परिवार को मरहम लगाने के नाम पर राजनेताओं ने शुरू की राजनीति, लगाने लगे एक दूसरे पर आरोप

 KATIHAR : कटिहार के बरारी चांदपुर दियारा में गैंगवार में चार लोगों की हत्या और अब तक कई लोग लापता होने की खबर अब राजनीतिक रूप लेने लगा है। दो दिसंबर को दिल दहला देने वाली घटना के बाद पूर्व सांसद पप्पू यादव घटनास्थल पर पहुंचकर इस हत्या के पीछे भाजपा कनेक्शन की आरोप लगाया था और अब इसी लाइन पर आगे बढ़ते हुए महागठबंधन के तरफ से माले के वरिष्ठ नेता वर्तमान विधायक महबूब आलम ने गंगा दियारा के घटना को भाजपा के साजिश हिस्सा बता रहे हैं।

 उन्होंने कहा है इस घटना में ठीक से जांच होना चाहिए उनके पास जो इनपुट मिला है उसमें भाजपा सरकार को बदनाम करने के लिए इस तरह का साजिश रच रहे हैं और जल्दी ये साजिश बेनकाब होना चाहिए। उन्होंने कहा कि दियारा का यह इलाका हमेशा से शांतिपूर्ण रहा है। लेकिन पिछले दिनों जो घटना हुई है। वह बेहद ही खतरनाक था। स्थानीय विधायक ने कहा कि इसकी जांच करनी चाहिए कि क्या इसमें किसी राजनीतिक संलिप्तता शामिल है। मुझे लगता है कि किसी राजनीतिक व्यक्ति से संरक्षण मिल रहा है। अचानक यह घटना नहीं हो रही है। पिछले पांच छह साल से यह इलाका शांत था। अचानक सरकार बदली ओर यह घटना होने लगी। यह भाजपा की साजिश है कि सीमांचल इलाके और मौजूदा बिहार सरकार की छवि खराब की जा सके। हमलोग चाहते हैं कि इसकी जांच हो और जो भी लोग शामिल हों, उनके खिलाफ कार्रवई की जाए।


भाजपा का किया बचाव

वहीं माले के दिग्गज नेता महबूब आलम के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पूर्व डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद ने कहा कि भाजपा पर ऐसा मनगढ़ंत आरोप हास्यास्पद है, पूरे बिहार में अपराधियों का मनोबल कैसे बड़ा है और इसके पीछे क्या वजह है यह लोगों को अब समझ में आने लगा है, जहां तक दियारा के इस घटना का सवाल है, इसमें दूर-दूर तक भाजपा का कोई मतलब नहीं है, भाजपा भी चाहते हैं सरकार दियारा के इस मामले में दोषियों पर कार्यवाही करें

Find Us on Facebook

Trending News